Paryayvachi Shabd – Synonyms Words – 2

Paryayvachi Shabd (Synonyms Words)

Hits: 775

पर्यायवाची शब्द – 2

Paryayvachi Shabd (Synonyms Words)

पर्यायवाची शब्द (Synonyms Words) की परिभाषा

‘पर्याय’ का अर्थ है- ‘समान’ तथा ‘वाची’ का अर्थ है- ‘बोले जाने वाले’ अर्थात जिन शब्दों का अर्थ एक जैसा होता है, उन्हें ‘पर्यायवाची शब्द’ कहते हैं।
इसे हम ऐसे भी कह सकते है- जिन शब्दों के अर्थ में समानता हो, उन्हें ‘पर्यायवाची शब्द’ कहते है।

दूसरे अर्थ में- समान अर्थवाले शब्दों को ‘पर्यायवाची शब्द’ या समानार्थक भी कहते है।
जैसे- सूर्य, दिनकर, दिवाकर, रवि, भास्कर, भानु, दिनेश- इन सभी शब्दों का अर्थ है ‘सूरज’ ।
इस प्रकार ये सभी शब्द ‘सूरज’ के पर्यायवाची शब्द कहलायेंगे।

पर्यायवाची शब्द को ‘प्रतिशब्द’ भी कहते है। अर्थ की दृष्टि से शब्दों के अनेक रूप है; जैसे- पर्यायवाची शब्द, युग्म शब्द, एकार्थक शब्द, विपरीतार्थक शब्द, समोच्चरितप्राय शब्द इत्यादि।
किसी भी समृद्ध भाषा में पर्यायवाची शब्दों की अधिकता रहती है। जो भाषा जितनी ही सम्पत्र होगी, उसमें पर्यायवाची शब्दों की संख्या उतनी ही अधिक होगी। संस्कृत में इनकी अधिकता है। हिन्दी के पर्यायवाची शब्द संस्कृत के तत्सम शब्द है, जिन्हें हिन्दी भाषा ने ज्यों-का-त्यों ग्रहण कर लिया है।

यहाँ एक बात ध्यान रखने की यह है कि इन शब्दों में अर्थ की समानता होते हुए भी इनके प्रयोग एक तरह के नहीं हैं। ये शब्द अपने में इतने पूर्ण हैं कि एक ही शब्द का प्रयोग सभी स्थितियों में और सभी स्थलों पर अच्छा नहीं लगता- कहीं कोई शब्द ठीक बैठता है और कहीं कोई। प्रत्येक शब्द की महत्ता विषय और स्थान के अनुसार होती है।

कुछ विशिष्ठ पर्यायवाची शब्द नीचे दी जा रही है-

( प )

पति- भर्ता, वल्लभ, स्वामी, प्राणाधार, प्राणप्रिय, प्राणेश, आर्यपुत्र।
पत्नी- भार्या, दारा, बेगम, कलत्र, प्राणप्रिया, वधू, वामा, अर्धांगिनी, सहधर्मिणी, गृहणी, बहु, वनिता, जोरू, वामांगिनी।
पक्षी- खेचर, दविज, पतंग, पंछी, खग, विहग, परिन्दा, शकुन्त, अण्डज, चिडिया, गगनचर, पखेरू, विहंग, नभचर।
पर्वत- पहाड़, गिरि, अचल, भूमिधर, तुंग आद्रि, शैल, धरणीधर, धराधर, नग, भूधर, महीधर।
पण्डित- सुधी, विद्वान, कोविद, बुध, धीर, मनीषी, प्राज्ञ, विचक्षण।
पुत्र- बेटा, लड़का, आत्मज, सुत, वत्स, तनुज, तनय, नंदन।
पुत्री- बेटी, आत्मजा, तनूजा, दुहिता, नन्दिनी, लड़की, सुता, तनया।
पृथ्वी- धरा, धरती, भू, इला, उर्वी, धरित्री, धरणी, अवनि, मेदिनी, क्षिति, मही, वसुंधरा, वसुधा, जमीन, भूमि।
पुष्प- फूल, सुमन, कुसुम, मंजरी, प्रसून, पुहुप।
पानी- जल, नीर, सलिल, अंबु, अंभ, उदक, तोय, जीवन, वारि, पय, अमृत, मेघपुष्प, सारंग।
पार्वती- अपर्णा, अंबिका, आर्या, उमा, गौरी, गिरिजा, भवानी, रुद्राणी, शिवा।
परिवार- कुटुंब, कुनबा, खानदान, घराना।
परिवर्तन- बदलाव, हेरफेर, तबदीली, फेरबदल।
पथ- मग, मार्ग, राह, पंथ, रास्ता।
पिता- जनक, जनपिता, बाप, बापू, बाबू, जन्मदाता, पितृ, पापा, अब्बा।
प्रकाश- ज्योति, चमक, प्रभा, छवि, द्युति।
पेड़- तरु, द्रुम, वृक्ष, पादप, रुक्ष।
पैर- पाँव, पद, चरण, पाद, पग।
पंक- कीचड़, कीच, कर्दम, चहला।
पंकज- कमल, राजीव, पद्म, सरोज, नलिन, जलज।
पंख- डैना, पक्ष, पर, पखौटा, पाँख।
पंगु- अपाहिज, लंगड़ा, विकलांग, अपंग।
पत्ता- पत्र, किसलय, दल, पत्रक, पल्ल्व, पत्ती, कोंपल।
पथिक- राही, राहगीर, यात्री, बटोही, मुसाफिर, पंथी।
परवाना- फतिंगा, पतंगा, शलभ, फुनगा, भुनगा।
परिणति- नतीजा, अंजाम, फल, परिणाम।
परिणय- शादी, विवाह, ब्याह, पाणिग्रहण।
परोपकार- परहित, भलाई, नेकी, परकाज, परमार्थ, परार्थ।
पर्जन्य- बादल, मेघ, घनश्याम, नीरद, वारिद, जलद।
पर्याय- समानार्थी, एकार्थी, एकार्थवाची।
पलटन- सेना, आर्मी, लश्कर, चमू, फौज।
पहेली- प्रहेलिका, मुअम्मा, मुकरी, कूटप्रश्न, बुझौवल।
पाठशाला- स्कूल, विद्यापीठ, विद्यालय, मदरसा।
पातक- पाप, गुनाह, अघ, कल्मष।
पावस- वर्षाकाल, वर्षाऋतु, बारिस।
पाशविक- अमानवीय, बर्बर, क्रूर, अमानुषिक, पैशाचिक।
पाहुना- मेहमान, अतिथि, पाहुन, अभ्यागत।
पिक- कोयल, कोकिला, कोयलिया।
पृष्ठ- पेज, वर्क, सफहा, सफा, पन्ना।
पौ- सवेरा, सुबह, भोर, प्रातः।
पौरस्त्य- पूरबी, पूर्वी, प्राच्य, मशरिक़ी।
प्रजा- जनता, रिआया, रैयत, परजा।
प्रतिदिन- रोजाना, हर दिन, हर रोज, रोज, रोज-रोज।
प्रतियोगिता- स्पर्धा, प्रतिस्पर्धा, मुकाबला, होड़।
प्रवाद- अफवाह, किंवदंती, जनश्रुति।
प्रहरी- द्वारपाल, पहरेदार, प्रतिहारी, दरबान, चौकीदार।
प्राज्ञ- विद्वान, महाज्ञानी, बुद्धिमान, चतुर।
प्रासाद- महल, राजमहल, राजनिवास, राजभवन।
प्रेक्षागृह- नाट्यगृह, छविगृह, नाट्यशाला, रंगशाला, रंगभूमि, रंगस्थली।
पवन- वायु, हवा, समीर, वात, मारुत, अनिल, पवमान, समीरण, स्पर्शन।
पंकिल- गंदला, गंदा, मलिन, मैला, कीचयुक्त।
पंथी- पथिक, राही, बटोही, समर्थक, धर्मालंबी।
पकड़ना- थामना, ग्रहण करना, काबू करना, वश में करना, कैद करना, बंदी बनाना।
पक्का- पका, अनुभवी, मजबूत, दृढ, कुशल, निश्चित, पुष्ट, अचूक।
पक्ष- डैना, पाख, पखवारा, दल, वर्ग, समुदाय, स्थिति।
पगड़ी- पगिया, मुरैठा, साफा, प्रतिष्ठा, मान-मर्यादा, भेंट, उपहार।
पचड़ा- झंझट, बखेड़ा, प्रपंच, तकरार।
पछतावा- पश्चात्ताप, प्रायश्चित, संताप, खिन्नता, दुःख, खेद।
पट- वस्त्र, कपड़ा, पोशाक, पर्दा, द्वार, दरवाजा, किवाड़, घूँघट, पर्दा, बुर्का।
पटरानी- स्त्री, महारानी, राजमहिषी, राजपत्नी, बड़ी रानी।
पटु- कुशल, चतुर, चालक, होशियार, मक्कार, धोखेबाज, निर्दय, निरोग।
पटुता- प्रवीणता, निपुणता, होशियारी, चतुराई, चालाकी।
पड़ताल- अनुसंधान, खोज, छानबीन, जाँच, खोजबीन।
पड़ौसी- समीपवर्ती, निकटस्थ, निकटवर्ती, पास का, पड़ौस का।
पढ़ाई- अध्ययन, विद्याम्यास, पठन-पाठन।
पण- जुआ, बाजी, शर्त, प्रतिज्ञा, दाम, कीमत, मूल्य, धन, दौलत, रोजगार, व्यवसाय, इनाम।
पतंग- सूर्य, सूरज, भास्कर, फतिंगा, पतंगा, टिड्डी, गेंद, गुड्डी, शरीर।
पतला- महीन, झिनझिना, दुर्बल, निर्बल, कमजोर, शक्तिहीन, तरल, कृशित।
पताका- झंडा, ध्वजा, ध्वज, तोरण, झंडी।
पतोहू- पुत्रवधू, वधू, बहुरिया।
पत्तन- नगरी, नगर, शहर, बन्दरगाह।
पत्थर- पाहन, पाषाण, संग, ओला, इन्द्रोपल, उपल।
पत्र- पत्ता, पत्ती, पल्लव, किसलय, खत, चिट्ठी, समाचार पत्र, अख़बार।
पत्रा- तिथिपत्र, पंचांग, जंत्री, वर्क, चद्दर, पन्ना, पृष्ठ।
पथ्य- उपयुक्त, आहार।
पदक- सम्मानजनक, उपाधि, मेडल।
पनपना- समृद्ध होना, सफल होना, उन्नति करना, फलना-फूलना, विकसित होना, विकास करना।
पनवाड़ी- तमोली, बरेजा, पनवारी, तांबूलिक।
पनाह- शरण, बचाव, रक्षा, स्थानम सुरक्षा।
पपीहा- चातक, मेघजीवन, पपिहरा।
परंतु- पर, किन्तु, लेकिन, मगर।
परम्परा- रीति, रिवाज, प्रथा, रूढ़ि, परिपाटी।
परख- जाँच, जाँच-पड़ताल, खोजबीन, पहचान, छानबीन, देखभाल।
परछाई- प्रतिच्छाया, छाया, प्रतिबिम्ब, साया, प्रतिरूप, छाँह, छाँव, झलक।
परतंत्र- पराधीन, परवश, गुलाम, परमुखापेक्षी, अधीन।
परदा- आड़, ओझल, छिपाव, परत, गुप्तता, तह।
परमार्थ- उपकार, भलाई, परोपकार, मोक्ष, निर्वाण।
पराक्रम- शक्ति, बल, पुरुषार्थ, उद्योग, ताकत, बहादुरी, वीरता।
पराजित- परास्त, विजित, हारा हुआ, पराभूत।
पराया- दूसरा, और, अन्य, गैर, बेगाना।
परिचय- ज्ञान, पहचान, मेल, मुलाकात, जानकारी।
परिचर- सेवक, नौकर, चाकर, टहलुआ, अनुचर।
परिचर्या- गोष्ठी, बातचीत, संगोष्ठी, परिसंवाद।
परिणाम- नतीजा, निष्कर्ष, फल, अंजाम।
परिताप- जलन, ताप, गर्मी, दुःख, क्लेश, व्यथा, तकलीफ, दर्द।
परितोष- संतोष, तृप्ति, संतुष्टि, प्रसन्नता, ख़ुशी, हर्ष।
परिपाटी- क्रम, सिलसिला, श्रेणी, रीति, शैली, ढंग, पद्धति।
परिभव- अनादर, अपमान, तिरस्कार, उपेक्षा।
परिमित- सीमित, थोड़ा, कम, अल्प।
परिश्रम- श्रम, उद्यम, मेहनत।
परिश्रमी- क्रियाशील, उद्योगी, उद्यमी, मेहनती, पुरुषार्थी, उद्योगशील।
परिष्कार- शुद्धि, सफाई, संस्कार, स्वच्छ्ता, संस्कार, निर्मलता, परिशोधन, सुधार।
परिष्कृत- शुद्ध, साफ, स्वच्छ, निर्मल, अलंकृत, सुसज्जित, शिष्ट, सुसंस्कृत।
परुष- कठोर, कड़ा, प्रचंड, तीव्र, निष्ठुर, निर्दय, हृदयहीन, संगदिल।
परेशान- क्षुब्ध, चिंतित, व्याकुल, खिन्न, आंदोलित, बेजार।
परोक्ष- अगोचर, अप्रत्यक्ष, ओझल, तिरोहित, गुप्त।
परोपकार- हित, भलाई, उपकार, कल्याण, दान, परकल्याण, परहित।
पर्यवसान- समाप्ति, अंत, खात्मा, निश्चय, दृढ़ता।
पर्याप्त- काफी, बहुत, प्रचुर, पूरा, भरपूर, विपुल।
पल- क्षण, लम्हा, दम (दम भर में), निमिष।
पल्लव- कोंपल, किसलय, पर्ण, पत्ता, पात।
पल्ला- आँचल, छोर, दामन , किवाड़, पट, पटल।
पवन- वायु, हवा, प्राण, अनल, श्वास, साँस।
पवित्र- अमल, विमल, शुद्ध, निर्मल, साफ, पावन, पूत, पुण्य, विशुद्ध।
पशु- जानवर, चतुष्पद, चौपाया, मवेशी, डंगर, ढोर, मवेशी।
पश्चात्ताप- अनुताप, संताप, ताप, परिताप, पछतावा, अफ़सोस, ग्लानि, खेद।
पसीना- स्वेद, श्रमकण, श्रमवारि, श्रमसीकर, श्रमविन्दु।
पसोपेश- दुविधा, असमंजस, आगा-पीछा, सोच-विचार, ऊहापोह।
पस्त- पराजित, हारा हुआ, थका हुआ, दबा हुआ, झुका हुआ।
पहनावा- पहरावा, पहिनावा, पोशाक, परिधान, लिबास।
पहरा- चौकी, रक्षा, निगरानी, देखभाल, चौकीदार, चौकसी।
पांडुलिपि- पांडुलेख, हस्तलिपि, मसौदा।
पाखंड- ढोंग, आडम्बर, मिथ्याचार, प्रपंच, छल, कपट, धोखा, धूर्तता।
पागल- मतिभ्रष्ट, बावला, नासमझ, सनकी, मत्त, मतवाला, बेवकूफ, दीवाना, मूर्ख।
पाट- राजगद्दी, सिंहासन, चौड़ाई, फैलाव, विस्तार, तख्ती, पटिया।
पाठ- सबक, पढ़ाई, पाठन, उच्चारण, वाचन।
पाठशाला- विद्यालय, गुरुकुल, विद्यामंदिर, सरस्वती भवन, स्कूल, विद्यापीठ।
पाणि- हाथ, कर, हस्त।
पात्र- बरतन, भांडा, अभिनयकर्त्ता, अभिनेता, नायक, अधिकारी, उपयुक्त व्यक्ति।
पादम- वृक्ष, पेड़, द्रुम।
पाप- अपकर्म, अपकृति, अधर्म, कुधर्म, कुकर्म, गुनाह, अपराध, कसूर, अनिष्ट, खराबी।
पामर- दुष्ट, कमीना, पापी, नीच, पातकी, पापिष्ठ, दुरात्मा।
पारावर- समुद्र, सागर, जलधि, जलनिधि, सीमा, हद।
पारिहास्य- हँसी-ठट्ठा, व्यंग्य, परिहास, दिल्लगी, मजाक।
पारी- बारी, पाली, अवसर, क्रम।
पार्थक्य- पृथकता, अलगाव, भेद, प्रभेद, भिन्नता, वियोग, जुदाई।
पालन- लालन-पालन, पालन-पोषण, भरण-पोषण, परवरिश, अनुगमन, कार्यान्वयन।
पावन- पवित्र, शुचि, शुद्ध, स्वच्छ, निर्मल, निर्दोष, पाक।
पाश- बंधन, जाल, फंदा।
पाषाण- पत्थर, प्रस्तर, शिला, पाथर, पाहन।
पास- तरफ, दिशा, निकटता, निकट, नजदीक, करीब, आस-पास।
पाहुना- अतिथि, मेहमान, अभ्यागत, दामाद, जमाई।
पिक- कोयल, कोकिला, पंचमा, वसंतदूती, कादम्बरी, कलकंठ, पिकी।
पिचकना- सिमटना, सिकुड़ना, दबना, धँसना, बिचकना।
पिछलग्गा- अनुचर, सेवक, नौकर, अधीन, आश्रित, चेला, टहलुआ।
पिपासा- तृष्णा, तृषा, प्यास, लोभ, लालच, इच्छा।
पीछे- अंत में, बाद में, पश्चात, अनुपस्थिति में, नामौजूदगी में, अभाव में, वास्ते, बदौलत, पिछले भाग।
पीड़ा- पीड़ायुक्त, क्लेशयुक्त, दुखित, कष्ट, दर्द, वेदना, व्यथा।
पीन- माँसल, स्थूल, मोटा, हष्ट-पुष्ट, विशालकाय।
पीयूष- अमृत, सुधा, प्राणरस, दूध, क्षीर, अमिय, आवेहयात।
पीला- पीत, केसरिया, सुनहला, हल्दिया, हरिद्राभ, बसंती, शरबती, नारंगी, कपिल, जाफ़रानी।
पीवर- मोटा, माँसल, स्थूल, भारी, विशाल, बलिष्ठ, तगड़ा, ताकतवर।
पुंज- संग्रह, समूह, राशि, ढेर, श्रेणी, वर्ग, कतार, सुपाड़ी, छाली।
पुंडरीक- कमल, पंकज, श्वेत, सफेद कोढ़, सफेद दाग, बाण, तीर, आकाश, आसमान, अग्नि।
पुकार- हाँक, टेर, दुहाई, फ़रियाद, बुलावा, आवाज, गुहार।
पुख्ता- पक्का, दृढ़, मजबूत, टिकाऊ।
पुण्य- पवित्र, पावन, शुभ, मंगलदायक, कल्याणकारी, धर्म, शुभ, कर्म, उत्तम कर्म।
पुण्यकृत- पुण्यकर्त्ता, धार्मिक, सुकृति, पुण्यात्मा, पुण्यवान, धर्मात्मा।
पुनीत- पवित्र, पाक, पावन, शुद्ध, निर्मल, स्वच्छ, साफ।
पुरखा- पूर्वज, पूर्वपरुष, अग्रजन्मा, पिता, पितामह, बड़ा-बूढ़ा, वृद्ध, बुजुर्गवार।
पुरातन- प्राचीन, पुराना, पूर्वकालीन, पहले का, फटा-पुराना।
पुरी- पुर, नगर, शहर।
पुरुषार्थ- पौरुष, उद्योग, शक्ति, बल, ताकत, साहस, हिम्मत।
पुष्कर- तालाब, सरोवर, जलाशय, पोखरा, कमल, पंकज।
पुष्ट- दृढ़, मजबूत, बलिष्ठ, बलवान, शक्तिशाली, ताकतवर, मोटा-ताजा, परिपूर्ण, भरा हुआ।
पुष्टि- अनुमोदन, समर्थन, स्थूलता, मोटाई, मांसलता।
पूँछ- पुच्छ, दुम, पुच्छल, पश्चभाग, पिछलग्गू, अनुचर, चापलूस, चमचा।
पूछताछ- जाँच-पड़ताल, तहकीकात, जिरह।
पूजा- पूजन, अर्चना, आराधना, वंदना, उपासना, स्तुति, आदर, सेवा, टहल, खातिरदारी।
पूज्य- पूजनीय, वंदनीय, आराध्य, मान्य, माननीय, सम्मानीय, आदरणीय, मान्यवर।
पूरा- भरा हुआ, परिपूर्ण, भरपूर, समूचा, सारा, समस्त, सकल, संपूर्ण, पर्याप्त।
पूर्वतर- पहला, पहले का, पूर्व का।

पृथक- पृथक्कृत, विभक्त, भिन्न, अलग, जुदा, अन्य, दूसरा।
पृथु- चौड़ा, मोटा, विस्तृत, विशाल, असंख्य, अनगिनत।
पृष्ठपोषण- समर्थन, अनुमोदन, हिमायत, सहायता, मदद।
पेचीदा- पेचदार, टेढ़ा-मेढ़ा, कठिन, मुश्किल, जटिल।
पेट- उदर, आमाशय, गर्भ, कोख, गर्भाशय, हमल।
पेड़- वृक्ष, पादप, कुट, बिरवा, भूमिरुह, द्रोण।
पेश- समक्ष, सामने, सम्मुख, आगे।
पेशकश- उपहार, भेंट, तोहफा, सौगात, नजर।
पेशा- धंधा, व्यवसाय, व्यापार, कार्य, काम।
पैगाम- संदेश, खबर, समाचार, संदेशा।
पैदावार- उपज, उत्पादन, फसल।
पैना- धारदार, चोखा, तीक्ष्ण, तेज, नुकीला।
पैशुन्य- चुगलखोरी, पिशुनता, परनिंदा, खलता।
पैसा- धन, दौलत, संपत्ति, माल, रुपया-पैसा, नकदी, टका, सिक्का।
पोखर- तालाब, सरोवर, जलाशय, पोखरा, पुष्कर।
पौरुष- पुरुषत्व, मर्दानगी, बल, शक्ति, ताकत, साहस, हिम्मत, वीरता।
प्यार- प्रेम, मुहब्बत, स्नेह, प्रीति, नेह, रति, राग, अनुराग।
प्यारा- प्रिय, प्रेमी, स्नेही, लाडला, दुलारा, खूबसूरत, बढ़िया।
प्यारी- प्रिया, प्रणयिनी, श्यामा, माशूका, जानी, दुलारी।
प्यास- पिपासा, तृष्णा, तृषा, कामना, लालसा, ललक।
प्यासा- पिपासित, पिपासु, लालायित, इच्छुक, तृषित।
प्रकट- जाहिर, प्रत्यक्ष, अभिव्यक्त, स्पष्ट, साफ, प्रकाशित, व्यक्त, खुला।
प्रकांड- उत्तम, सर्वश्रेष्ठ, सर्वोपरि, श्रेष्ठ।
प्रकार- भेद, किस्म, तरह, भाँति, रीति, ढंग।
प्रकृत- वास्तविक, असली, यथार्थ, सत्य, स्वाभाविक,, साधारण, सहज।
प्रकृति- कुदरत, स्वभाव, शील, तासीर, मिजाज।
प्रख्यात- विख्यात, प्रसिद्ध, मशहूर, यशस्वी, कीर्तिमान।
प्रगति- उन्नति, तरक्की, विकास।
प्रगल्भ- उत्साही, साहसी, निर्भय, निडर, धृष्ट, निर्लल्ज, अभिमानी, अहंकारी, घमंडी।
प्रचंड- तीव्र, तीक्ष्ण, तेज, भयंकर, भयानक, खौफनाक, डरावना, भीषण।
प्रचुर- बहुत, अधिक, विपुल, यथेष्ट, पर्याप्त, काफी।
प्रचुरता- प्राचुर्य, बहुलता, व्यापकत्व, विपुलता, जखीरा, इफरात।
प्रच्छद- आच्छादन, आवरण, ढकना।
प्रजा- संतान, संतति, औलाद, जनसमूह, जनता, रैयत।
प्रजातंत्र- जनतंत्र, लोकतंत्र, गणतंत्र।
प्रज्ञा- बुद्धि, प्रतिभा, ज्ञान, मति, समझ, अक्ल।
प्रणय- प्रेम, अनुराग, प्रीति, स्नेह।
प्रणयिनी- प्रेमिका, प्रिया, अंगना, भार्या, पत्नी, स्त्री, वामा।
प्रणाम- नमस्कार, अभिवादन, पादग्रहण, नमन, अभिवंदना, चरणवंदना, सलाम, आदाब।
प्रणाली- ढंग, प्रकार, साधन, तरीका, पद्धति, व्यवस्था, परम्परा, रीति, प्रथा।
प्रणिधान- प्रयत्न, कोशिश, प्रयास, उपासना, भक्ति, पूजा, तल्लीनता, ध्यान।
प्रणेता- नेता, नायक, रचनाकार, वृत्तिकार।
प्रताप- चमक, आभा, तेजी, प्रचंडता, बहादुरी, वीरता, प्रभाव।
प्रतारक- धोखेबाज, धूर्त, चालाक, ठग, खल, शठ।
प्रति- समान, जोड़ का, मुकाबले का, ओर, दिशा, तरफ, नकल, कापी।
प्रतिकार- प्रतिशोध, प्रतिकर्म, बदला, उत्तर, जवाब।
प्रतिकूल- विपरीत, विरुद्ध, खिलाफ, उल्टा, विलोम।
प्रतिज्ञा- प्रण, वचन, वायदा, शपथ, सौगंध, कसम।
प्रतिफ़ल- परिणाम, नतीजा, फल, प्रतिकार, बदला, प्रतिशोध।
प्रतिबिंब- परछाई, छाया, अक्स।
प्रतिभा- बुद्धि, प्रज्ञा, ज्ञान, समझ, अक्ल, समझबूझ।
प्रतिमान- समानता, बराबरी, सादृश्य, मानक, आदर्श।
प्रतियोगिता- मुकाबला, स्पर्धा, प्रतिस्पर्धा, प्रतिद्विंद्विता।
प्रतिरक्षा- बचाव, सुरक्षा, रक्षा।
प्रतिरोध- रोक, अवरोध, रुकावट, बाधा, विघ्न।
प्रतिलिपि- प्रतिलेख, कापी, अनुलिपि, नकल, अनुकृति, प्रतिरूप।
प्रतिशोध- प्रतिहिंसा, प्रतिफ़ल, प्रतिकार, बदला, प्रतिदण्ड।
प्रतिष्ठा- मान-मर्यादा, गौरव, इज्जत, आदर, सत्कार, खातिरदारी, प्रसिद्धि।
प्रतिस्पर्धा- होड़, प्रतियोगिता, प्रतिद्विंद्विता, मुकाबला।
प्रतिहार- द्वारपाल, दरबान, द्वाररक्षक, चोबदार।
प्रतीत- ज्ञात, विदित, अवगत।
प्रत्यक्ष- साक्षात्, भरोसा, यकीन, स्पष्ट, साफ।
प्रत्याख्यान- खंडन, अस्वीकार, आपत्ति, निरोध।
प्रथा- रीति, रिवाज, परम्परा, रस्म, नियम, फैशन।
प्रदीप्त- चमकता, जगमगाता, प्रकाशित, प्रकाशवान, उज्ज्वल, चमकीला।
प्रदेश- देश, क्षेत्र, भूखंड, शासनक्षेत्र, राज्यक्षेत्र, रियासत, स्थान, जगह।
प्रधान- नेता, मुखिया, सरदार, मुख्य, खास, श्रेष्ठ।
प्रपंच- जंजाल, झंझट, झगड़ा, झमेला, ढोंग, धोखा।
प्रबल- शक्तिशाली, बलवान, ताकतवर, तेज, भारी, प्रचंड।
प्रभा- आभा, प्रकाश, दीप्ति, चमक, सूर्यबिम्ब, सूर्यमंडल।
प्रभात- प्रातःकाल, उषाकाल, भोर, सवेरा, सुबह, विहान, निशांत।
प्रभु- ईश्वर, भगवान, अल्लाह, खुदा, मालिक, स्वामी।
प्रभूत- बहुत, प्रचुर, अधिक, काफी, पर्याप्त।
प्रमत्त- मस्त, मतवाला, पागल, बावला, घमंडी, लापरवाह, असावधान, बेपरवाह।
प्रमाद- भ्रम, भूल, भूल-चूक, असावधानी, लापरवाही, बेहोशी, पागलपन, बावलापन।
प्रमुख- प्रथम, पहला, प्रधान, मुख्य, श्रेष्ठ, विशिष्ठ, उत्कृष्ट।
प्रमोद- हर्ष, आनंद, उल्लास, ख़ुशी, प्रसन्नता।
प्रयत्न- उद्योग, चेष्टा, कोशिश, प्रयास, उद्यम, यत्न, दौड़धूप।
प्रयाण- कूच, प्रस्थान, गमन।
प्रयास- उद्योग, परिश्रम, मेहनत, प्रयत्न, कोशिश, भगीरथ।
प्रयोग- इस्तेमाल, सेवन, व्यवहार, उपयोग, जाँच।
प्रयोजन- अर्थ, अभिप्राय, उद्देश्य, मतलब।
प्रलाप- व्यर्थ, बातचीत, बक-बक, बक-झक, बकवास।
प्रलोभन- लोभ, लालच।
प्रवचन- भाषण, उपदेश, शिक्षा, व्याख्यान।
प्रवीण- निपुण, कुशल, होशियार, बुद्धिमान, चालाक, चतुर।
प्रवीणता- चतुराई, कुशलता, चालाकी, होशियारी, दक्षता।
प्रशंसा- स्तुति, तारीफ, अभिनंदन, गुणगान, बड़ाई, महिमा गान।
प्रशस्त- अच्छा, श्रेष्ठ, उत्तम, निर्दोष, भव्य, सुन्दर, स्वच्छ, प्रशंसनीय, वंदनीय।
प्रश्रय- आधार, सहारा, अवलंब, आश्रय, आसरा, संरक्षण।
प्रसंग- प्रकरण, संदर्भ, विषय, अवसर, घटना।
प्रसक्त- संलग्न, संश्लिष्ट, संबद्ध, अनुरक्त।
प्रसाधन- सजावट, श्रृंगार, सौंदर्यवर्धन, श्रृंगार-सामग्री, सजावट का सामान, उपस्कर।
प्रसिद्ध- विख्यात, मशहूर, प्रतिष्ठित, यशस्वी, जाने-माने, कीर्तिवान, मान्य।
प्रसिद्धि- ख्याति, नाम, यश, गौरव, कीर्ति, प्रतिष्ठा, मशहूरी।
प्रसून- पुष्प, फूल, सुमन, संतान।
प्रस्तावना- प्राक्कथन, आमुख, पुरोवचन, भूमिका, प्रस्ताव, नान्दीपाठ, मंगलाचरण।
प्रस्तुत- उपस्थित, मौजूद, हाजिर, वर्तमान, विद्यमान, तैयार।
प्रांजल- सरल, स्पष्ट, सुबोध, स्वच्छ, शुद्ध, पवित्र, साफ-सुथरा, निर्मल।
प्रागल्भ्य- अहंकार, दर्प, घमंड, अभिमान, श्रेष्ठता, बड़प्पन, साहस, हिम्मत, बहादुरी, धीरता।
प्राचीन- पूर्वकालीन, पुराना, भूतकालीन, आदिम, कदीम।
प्राचीर- चहारदीवारी, परकोटा, चारदीवारी।
प्राज्ञ- बुद्धिमान, समझदार, अक्लमंद, प्रतिभाशाली, चतुर, चालाक, होशियार।
प्राण- साँस, श्वास, वायु, हवा, जिन्दगी, जीवन, जान।
प्राणी- जीवधारी, प्राणधारी, जानवर, जीव, प्राणवान।
प्रातःकाल- प्रात, प्रातः, प्रभात, सवेरा, विहान, भोर, अरुणोदय, कल, दिनमुख, सकाल।
प्राप्त- लब्ध, उपलब्ध, मिला हुआ, पाया हुआ।
प्रायः- अकसर, अधिकतर, करीब-करीब, तकरीबन।
प्रारंभ- शुरू, शुरुआत, आरंभ, आदि।
प्रार्थना- विनती, निवेदन, माँगना, विनय, अर्ज, भक्ति, भजन, कीर्तन, पूजा।
प्रिय- 1. प्यारा, दुलारा, लाडला; 2. सुन्दर, मनोहर, आकर्षक; 3. पति, स्वामी, प्राणपति, साजन, प्राणेश्वर, प्राणनाथ; 4. प्रेमी, महबूब, आशिक, सनम, दिलबर, दिलरुबा, चितचोर।
प्रियदर्शन- मनोहर, सुन्दर, खूबसूरत, लुभावना, चित्ताकर्षक, मनोहारी।
प्रिया- 1. पत्नी, भार्या, अर्द्धांगिनी, जीवनसंगिनी; 2. प्रेमिका, प्रियतमा, ह्रदयेश्वरी, प्रणयिनी, महबूबा, सजनी, संगिनी।
प्रीति- प्रेम, प्यार, स्नेह, मुहब्बत, अनुराग, प्रणय, प्रीत।
प्रेक्षागार- रंगशाला, नाट्यशाला, नाट्यगृह, अभिनयशाला, प्रेक्षागृह।
प्रेम- प्रीति, मुहब्बत, प्यार,मोह, माया, स्नेह, अनुराग, लगाव, चाह, दुलार।
प्रेमी- आशिक, प्रियतम, स्नेही, प्रिय, दिलबर, दिलदार।
प्रेरणा- उत्तेजना, प्रोत्साहन, बढ़ावा।
प्रोत्साहन- बढ़ावा, प्रेरणा, हिम्मत, उकसाहट, उत्साहवर्धन।
प्रौढ़- परिपक्व, बालिग, वयस्क, सयाना।

( फ )

फल- फलम, बीजकोश।
फ़ख- गौरव, नाज, गर्व, अभिमान।
फजर- भोर, सवेरा, प्रभात, सहर, सकार।
फतह- सफलता, विजय, जीत, जफर।
फरमान- हुक्म, राजादेश, राजाज्ञा।
फलक- आसमान, आकाश, गगन, नभ, व्योम।
फसल- शस्य, पैदावार, उपज, खिरमन, कृषि- उत्पाद।
फालिज- पक्षाघात, अर्धांग, अधरंग, अंगघात।
फितरत- स्वभाव, प्रकृति, प्रवृत्ति, मनोवृत्ति, मिजाज।
फूट- मतभेद, मनमुटाव, अनबन, परस्पर, कलह।
फूल- पुष्प, सुमन, कुसुम, गुल, प्रसून।
फंदा- फाँस, जाल, छल, कपट, धोखा।
फकत- केवल, सिर्फ।
फक्कड़- मस्त, अलमस्त, मौजी, लापरवाह, उद्दंड।
फणधर- साँप, नाग, सर्प, व्याल, विषधर।
फणींद्र- शेषनाग, नागराज, सर्पराज, फणिपति, वासुकी।
फणी- साँप, सर्प, नाग, फणधर।
फबती- चुटकी, उपहास, परिहास, चुटकला।
फरेब- छल, कपट, धोखा, प्रवंचना।
फलतः- इसलिए, फ़लस्वरुप, परिणामतः, अंततः, आख़िरकार।
फलाँग- उछाल, छलाँग, चौकड़ी।
फ़साद- उपद्रव, हंगामा, दंगा, लड़ाई-झगड़ा, मारकाट।
फाका- अनशन, उपवास, व्रत, निराहार, अनाहार।
फायदा- लाभ, नफा, मुनाफा, उपलब्धि।
फालतू- 1. निरर्थक, बेकार, अनावश्यक, गैरजरूरी, रद्दी; 2. शेष, बाकी, बचा हुआ।
फिट- ठीक, उपयुक्त, मुनासिब।
फिर- 1. तत्पश्चात, इसके पश्चात, इसके पीछे, इसके बाद; 2. इसके अतिरिक्त, इसके अलावा, इसके सिवाय।
फिराक- 1. वियोग, जुदाई; 2. चिंता, सोच, फिक्र; 3. खोज, तलाश।
फीलपाँव- श्लीपद, पादवल्मीक, हाथीपाँव।
फुर्तीला- 1. स्फूर्तिवान, सक्रिय, चुस्त; 2. तत्पर, अविलंब।
फूल- पुष्प, सारंग, कुसुम, सुमन, गुल।
फेर-फार- 1. घुमाव-फिराव, चक्कर; 2. चालाकी, धूर्तता, छल।
फेरा- परिक्रमण चक्कर, परिक्रमा, प्रदक्षिण।
फेहरिस्त- सूची, तालिका, सारिणी।
फोकट- मुफ़्त का, बिना पैसे का, बेदाम।
फौज- 1. सेना, लश्कर, कटक; 2. कुमक, चतुरंगिनी, वाहिनी।
फौजी- सैनिक, सिपाही, जंगी, लश्करी।
फौरन- तुरन्त, तत्काल, जल्दी।

( ब )

बाण- सर, तीर, सायक, विशिख, आशुग, इषु, शिलीमुख, नाराच।
बिजली- घनप्रिया, इन्द्र्वज्र, चंचला, सौदामनी, चपला, बीजुरी, क्षणप्रभा, घनवल्ली, शया, ऐरावती, दामिनी, ताडित, विद्युत।
ब्रह्मा- विधि, विधाता, स्वयंभू, प्रजापति, आत्मभू, लोकेश, पितामह, चतुरानन, विरंचि, अज, कर्तार, कमलासन, नाभिजन्म, हिरण्यगर्भ।
ब्राह्मण- द्विज, भूदेव, विप्र, महीदेव, अग्रजन्मा, द्विजाति, भूसुर, महीसुर, वाडव, भूमिसुर, भूमिदेव।
बहुत- अनेक, अतीव, अति, बहुल, भूरि, बहु, प्रचुर, अपरिमित, प्रभूत, अपार, अमित, अत्यन्त, असंख्य।
बादल- मेघ, घन, जलधर, जलद, वारिद, नीरद, सारंग, पयोद, पयोधर।
बालू- रेत, बालुका, सैकत।
बन्दर- वानर, कपि, कपीश, मर्कट, कीश, शाखामृग, हरि।
बगीचा- बाग़, वाटिका, उपवन, उद्यान, फुलवारी, बगिया।
बाल- कच, केश, चिकुर, चूल।
बंकिम- बाँका, तिरछा, वक्र, बंक, आड़ा।
बंजर- अनुपजाऊ, अनुर्वर, ऊसर।
बंदीगृह- कारागृह, कारागार, कारावास, कैदखाना, जेल।
बंधु- भ्राता, भाई, सहोदर, अग्रज, अनुज।
बख़ील- कंजूस, मक्खीचूस, कृपण, खसीस, सूम, मत्सर।
बजरंगबली- हनुमान, वायुपुत्र, केसरीनंदन, पवनपुत्र, बज्रांगी, महावीर।
बटमार- 1. डाकू, लुटेरा, डकैत, दस्यु; 2. ठग, जेबकतरा, उचक्का।
बटोही- मुसाफिर, राही, राहगीर, पथिक, पंथी, यात्री।
बहेलिया- आखेटक, अहेरी, शिकारी, आखेटी।
बाँसुरी- वेणु, बंशी, मुरली, बंसुरी।
बाजि- घोड़ा, अश्व, घोटक, तुरंग, तुरग, हय।
बायस- कौआ, कागा, काक, एकाक्ष।
बारिश- चौमासा, बरसात, वर्षा, वर्षाऋतु।
बुड्ढा- बूढ़ा, बुजुर्ग, वृद्ध, जईफ, वयोवृद्ध।
बेगम- महारानी, रानी, राज्ञी, राजमहिषी।
बेमिसाल- बेजोड़, लाजवाब, अनोखा, लासानी, अतुलनीय।
बैल- वृष, वृषभ, ऋषभ, वलीवर्द।
बलदेव- बलराम, बलभद्र, हलायुध, राम, मूसली, रोहिणेय, संकर्षण।
बँटवारा- विभाजन, वितरण, बँटाई, आबंटित करना।
बंधन- 1. गाँठ, बँधना 2. विघ्न, बाधा, रुकावट, नियंत्रण, रोक, कैद।
बंधुता- भाईचारा, दोस्ती, मैत्री, मित्रता, यारी।
बखान- वर्णन, कथनं, व्याख्या, तारीफ, प्रशंसा, बड़ाई।
बखूबी- अच्छी तरह से, भली-भाँति, खूबी के साथ, पूरी तरह से, पूर्णरूप से।
बखेड़ा- झंझट, झगड़ा, लड़ाई, विवाद, हंगामा, फ़साद।
बगावत- विद्रोह, अराजकता, गदर, क्रांति, राजद्रोह।
बगुला- बगला, बक, बलाका।
बचत- 1. शेष, बाकी, संचय 2. लाभ, मुनाफा।
बचपन- बाल्यावस्था, लड़कपन, बालपन, बचपना, शैशवकाल।
बचाव- रक्षा, प्रतिरक्षण, हिफाजत।
बजा- उचित, ठीक, सही, वाजिब।
बड़प्पन- महत्त्व, बड़ाई, गुरुता, महत्ता, महानता, गरिमा।
बढ़ावा- प्रोत्साहन, उकसाव, प्रेरणा।
बढ़िया- अच्छा, श्रेष्ठ, विशिष्ट, प्रमुख, असाधारण, उत्कृष्ट।
बतौर- 1. तरह, पर, तरीके पर 2. के समान, के बराबर, के तुल्य।
बत्ती- 1. दीपक, मोमबत्ती, बाती, दिया 2. प्रकाश, रोशनी, चमक, जगमगाहट।
बदगोई- निंदा, चुगली, शिकायत, बुराई।
बदजात- नीच, कमीना, लुच्चा, लफ़ंगा, दुष्ट, बदमाश।
बदतमीज- अभद्र, असभ्य, गँवार, उदंड।
बदन- शरीर, देह, तन, काया।
बदनाम- कुप्रसिद्ध, कलंकित, कुख्यात।
बदनबख्त- अभागा, बदकिस्मत।
बदल- हेर-फेर, परिवर्तन, फेर-बदल, इन्कलाब, पलटा।
बदला- 1. आदान-प्रदान, लेन-देन, विनिमय 2. परिणाम, फल, नतीजा।
बदसलूकी- दुर्व्यवहार, कुव्यवहार, अभद्रता, कदाचरण।
बदहवास- विकल, व्याकुल, व्यग्र, घबराया हुआ, बौखलाया हुआ।
बदौलत- सहारे से, द्वारा, कृपा से, कारण से, वजह से।
बन- वन, जंगल, कानन, अरण्य।
बना- 1. अलबेला, सजा-सँवरा, साफ-सुथरा, सुव्यवस्थित 2. रूप, शक्ल, स्वरूप, धारण करना।
बनावट- 1. रचना, निर्माण, आकार, शक्ल, रूप 2. ढोंग, दिखावा।
बरकत- अधिकता, आधिक्य, प्रचुरता, लाभ, फायदा।
बरकरार- 1. स्थिर, कायम 2. उपस्थित, मौजूद, विद्यमान।
बरखास्त- सेवामुक्त, सेवानिवृत, निलंबित, निष्कासित।
बरतन- पात्र, भाँडा, बासन।
बरबस- बलपूर्वक, जबरदस्ती, व्यर्थ, निरर्थक, फजूल।
बरबाद- नष्ट, चौपट, सत्यानाश।
बरबादी- नाश, विनाश, खराबी, तबाही, ध्वंस, तहस-नहस।
बराबर- 1. एक-सा, समान 2. लगातार, सर्वदा, हमेशा, सदा 3. साथ-साथ, एक साथ।
बर्बर- 1. जंगली, असभ्य, उद्दंड 2. क्रूर, निर्दयी, अत्याचारी, हिंसक, कठोर।
बल- 1. शक्ति, ऊर्जा, सामर्थ्य, जोर 2. आश्रय, सहारा, भरोसा।
बलराम- बलभद्र, बलदेव, हलधर।
बलवान- शक्तिशाली, बलशाली, ताकतवर, पुष्ट, मजबूत, दृढ़।
बलात्कार- 1. सतीत्व हरण, बलात् संभोग, छलपूर्वक संभोग 2. दुराचार, अनाचार, छल प्रयोग, बल प्रयोग, कुकर्म, दुष्कर्म।
बलिदान- प्राणत्याग, जीवनदान, आत्मोत्सर्ग, प्राण न्यौछावर, कुर्बानी, नरबलि।
बलिष्ठ- बलवान, शक्तिशाली, सबल, ताकतवर, हष्ट-पुष्ट।
बलिहारी- निछावर, न्यौछावर, कुर्बान।
बस- 1. पर्याप्त है कि, काफी है कि 2. सिर्फ, केवल, मात्र 3. समाप्त, खतम 4. वश, अधिकार, काबू, जोर।
बहस करना- तर्क-वितर्क करना, विवाद करना, बहस करना, दलील देना, वादानुवाद करना।
बहादुर- वीर, सूर, सूरमा, साहसी, साहसिक, योद्धा।
बहादुरी- वीरता, साहस, निडरता, निर्भीकता, हिम्मत।
बहार- 1. वसंतऋतु, पतझड़, ऋतुराज 2. आनंद, प्रफुल्लता, मजा, मौज, मस्ती।
बहिरंग- बाहरी, बाह्य, बाहर वाला, बाहर का।
बहुतायत- अधिकता, आधिक्य, प्रचुरता, बहुलता।
बहुधा- प्रायः, अकसर।
बहुल- अधिक, बहुत, ज्यादा, प्रचुर, पर्याप्त, प्रभूत।
बहुलता- बाहुल्य, प्राचुर्य, प्रचुरता, अधिकता, प्रभूतता।
बहू- 1. पुत्रवधू, पतोहू, तनयवधू 2. पत्नी, जोरू, लुगाई, घरवाली, भार्या, दूल्हन, अर्द्धांगिनी।
बाँका- 1. टेढ़ा, तिरछा 2. छैल-छबीला, बनाठना, ठाठ वाला 3. साहसी, वीर, बहादुर।
बाँट- 1. विभाजन, बँटवारा, अलगाव 2. भाग, हिस्सा, अंश।
बाँदी- दासी, सेविका, परिचारिका, नौकरानी, अनुचरी।
बाकी- 1. अवशेष, बचत, अवशेष 2. अंश, खंड, भाग 3. किन्तु, परन्तु, मगर, लेकिन।
बागी- राजद्रोही, देशद्रोही, अराजभक्त, गद्दार, राजभक्तिहीन।
बाजीगर- जादूगर, ऐंद्रजालिक।
बाट- राह, रास्ता, मार्ग, पथ।
बाट जोहना- प्रतीक्षा करना, इंतजार करना, रास्ता देखना, राह देखना आसरा लगाना।
बात- 1. वार्ता, कथन, वचन, वाणी 2. इच्छा, कामना, अभिलाषा, चाह।
बातचीत- वार्तालाप, संवाद, कथोपथन, बोलचाल, गपशप, गप्पी।
बाद- 1. पश्चात, पीछे 2. अतिरिक्त, अलावा, सिवा।
बाधा- विघ्न, अड़चन, संकट, कष्ट, मुसीबत, परेशानी, दुःख।
बानगी- उदाहरण, नमूना, मिसाल।
बाना- पोशाक, वेश, वेशभूषा, भेष, बुनावट, बुनाई।
बाबत- विषय में, सम्बन्ध में, बारे में।
बार-बार- लगातार, पुनः-पुनः, प्रायः, फिर-फिर।
बारीक़- महीन, पतला, सूक्ष्म, झीना।
बाल- 1. बच्चा, बालक, लड़का 2. केश, लट, शिरोरूह, अलक, कुंतल।
बालिका- कन्या, लड़की, किशोरी, युवती।
बालू- रेत, बालुका, रेणुका, रेणु, रेती, शिलाकण।
बाहुबल- बहादुरी, शारीरिक, बल, जिस्मानी ताकत।
बिकाऊ- विक्रेय, विक्रयशील, बेचने लायक।
बिगड़ैल- 1. क्रोधी, क्रोधित, गुस्सैल 2. जिद्दी, हठी, अड़ियल, ढीठ।
बिगाड़- विकार, भ्रष्टता, दोष, मनमुटाव, अनबन, हानि, नुकसान।
बिछोह- वियोग, जुदाई, बिछौड़ा, अलगाव।
बिजली- विद्युत, चंचला, दामिनी, सूर्यपुत्री, घनज्वाला, तड़ित, वज्र।
बिनती- विनय, निवेदन, प्रार्थना, अनुरोध, अर्ज।
बिना- बगैर, अतिरिक्त, सिवा, सिवाय, अलावा।
बियाबान- जंगल, वन, सुनसान, वीरान, निर्जन।
बिलकुल- 1. कुल, सब, सारा 2. पूरी तरह, एकदम, सोलह आने, निश्चय ही, निस्संदेह।
बिस्मिल्लाह- श्रीगणेश, आरम्भ, शुरुआत, शुरू आदि।
बिसरना- विस्मृत होना, भूलना, याद न रहना, भुला देना, याद न करना।
बीमारी- रोग, व्याधि, रुग्णता 2. बुरी आदत, बुरी लत।
बीवी- पत्नी, भार्या, अर्द्धांगिनी, लुगाई, मेहरारू, घरवाली।
बुखार- ज्वर, ताप, तापवृद्धि।
बुजुर्ग- वृद्ध, बूढ़ा, प्रौढ़, बड़ा।
बुढ़ापा- वृद्धावस्था, वृद्धत्व, जश, जीर्णावस्था।
बुद्ध- ज्ञानी, ज्ञानवान, विद्वान, बुद्धिमान, ज्ञान, गौतम, सिद्धार्थ।
बुद्धि- अक्ल, समझ, दिमाग, विवेक, सूझबूझ, ज्ञान, प्रतिभा।
बुद्धिमान- अक्लमंद, समझदार, मनस्वी, प्रतिभावान, ज्ञानी, विवेकी, तीक्ष्णबुद्धि, कुशाग्रबुद्धि।
बुहारी- झाड़ू, सोहनी, बुहारनी, बटोरनी।
बूँद- जलकण, बिंदु, जलबिंदु, कण।
बू- 1. गंध, वास, महक 2. दुर्गंध, बदबू, बुरी महक।
बूझ- बुद्धि, समझ, अक्ल, प्रतिभा।
बूझना- जानना, समझना, ज्ञान, प्राप्त करना, मालूम करना, हृदयंगम करना।
बृहत- बड़ा, विशाल, दीर्घ।
बृहस्पति- गुरु, देवाचार्य, देवगुरु, सुराचार्य।
बेइज्जत- अपमानित, निरादृत, तिरस्कृत, जलील।
बेकरार- बेचैन, व्याकुल, आकुल, घबराया हुआ।
बेकस- निराश्रय, आश्रयहीन, अनाथ, दीनहीन, गरीब, लाचार।
बेकाबू- अनियंत्रित, निरंकुश, बेलगाम।
बेकार- निरर्थक, निरुपयोगी, विफल, निकम्मा, निठल्लू, व्यर्थ।
बेखटके- निस्संकोच, निर्भय होकर, बिना आशंका के, निडर होकर।
बेखबर- अनजान, बेसमझ, बेसुध, चेतना रहित, असावधान।
बेगाना- गैर, दूसरा, पराया, अनजान, अपरिचित, अजनबी।
बेचारा- निराश्रित, निःसहाय, अनाथ, दीन, गरीब, कंगाल।
बेचैन- व्याकुल, विकल, आकुल, चिन्तित, परेशान, उदास, परेशान, उदास, अशांत।
बेजान- निर्जीव, निष्प्राण, प्राणरहित, मुरदा, मृत, मृतक, मरा हुआ।
बेजोड़- अनुपम, अनूप, अद्वितीय, अनूठा, निराला, अनोखा।
बेडौल- कुरूप, भद्दा, बदशक्ल, बदसूरत, आकारहीन।
बेतहाशा- अकस्मात, तेजी से, अचानक, घबराकर, बिना सोचे, बिना समझे।
बेताब- अधीर, उत्सुक, उतावला, व्याकुल, विकल, घबराया हुआ।
बेदर्द- निष्ठुर, निर्दय, दयाहीन, क्रूर, अकरुण, कठोर।
बेदाग- साफ, स्वच्छ, निर्दोष, दोषहीन, निरपराध, बेकसूर, अपराधरहित, बेगुनाह।
बेबस- लाचार, मजबूर, पराधीन, गुलाम, पराश्रित।
बेमेल- असमान, बेडौल, अनमेल, विरुद्ध।
बेशर्म- निर्लल्ज, बेहया, लज्जाहीन, चिकना।
बेशुमार- अगणित, असंख्य, अनगिनत।
बेसुध- अचेत, बेहोश, संज्ञाहीन, आकुल, व्याकुल, विकल, घबराया हुआ।
बेहतर- अच्छा, ठीक, बढ़िया, बढ़कर, श्रेष्ठ।
बेहाल- व्याकुल, आकुल, विकल, बेचैन, बेहोश, अचेत।
बेहूदा- असभ्य, बदतमीज, सदाचारहीन, अंटशंट, अंड-बंड, व्यर्थ, निरर्थक।
बेहोश- मूर्छित, बेसुध, अचेत, संज्ञाशून्य, जड़ीभूत।
बैठक- चौपाल, दालान, अतिथिकक्ष, वार्ताकक्ष।
बैर- शत्रुता, दुश्मनी, दुर्भाव, वैर, द्वेष, विद्वेष, प्रतिद्विंद्विता।
बोझ- ढेर, भार, गुरुत्व, वजन।
बोध- ज्ञान, जानकारी, समझ, बुद्धि, विवेक।
ब्योरा-विवरण, वृत्तांत, उल्लेख, वर्णन।
ब्रह्मांड- विश्व, जगत, संसार, दुनिया।

( भ )

भौंरा- अलि, मधुव्रत, शिलीमुख, मधुप, मधुकर, द्विरेप, षट्पद, भृंग, भ्रमर।
भोजन- खाना, भोज्य सामग्री, खाद्यय वस्तु, आहार।
भय- भीति, डर, विभीषिका।
भाई- तात, अनुज, अग्रज, भ्राता, भ्रातृ।
भंगुर- नाशवान, नश्वर, अनित्य, क्षर, मर्त्य, विनश्वर।
भंडारी- रसोइया, खानसामा, महाराज, रसोईदार।
भंवरा- भौंरा, भ्रमर, मधुकर, मधुप, मिलिंद, अलि, अलिंद, भृंग।
भक्त- आराधक, अर्चक, पुजारी, उपासक, पूजक।
भगिनी- बहन, बहना, स्वसा, अग्रजा।
भद्र- शिष्ट, शालीन, कुलीन, सभ्य, सलीकेदार, बासलीक़ा।
भरतखंड- भारतवर्ष, आर्यावर्त, भारत, हिंदुस्तान, हिंदोस्ताँ।
भरोसा- यकीन, विश्वास, ऐतबार, अक़ीदा, आश्वास।
भव- संसार, दुनिया, जग, जहाँ, विश्व, खलक, खल्क।
भविष्य- भावी, अनागत, भविष्यतकाल, मुस्तकबिल, भविष्यद।
भारती- शारदा, सरस्वती, वाग्देवी, वीणावादिनी, विद्या, वागेश्वरी, वागीशा।
भाल- मस्तक, पेशानी, माथा, ललाट।
भाला- बर्छा, बरछा, नेजा, कुंत, शलाका।
भीष्म- गंगापुत्र, शांतनुसुत, भीष्मपितामह, देवव्रत।
भुजा- भुज, बाहु, बाँह, बाजू।
भेद- फर्क, अंतर, भिन्नता, विषमता।
भ्रष्ट- पथभ्रष्ट, पतित, बदचलन, दुश्चरित्र, आचरणहीन।
भ्रू- भौंह, भौं, भृकुटि, भँव, त्यौरी।
भूषण- जेवर, गहना, आभूषण, अलंकार।
भंग- ध्वंस, विध्वंस, नाश, विनाश, टुकड़ा, खंड।
भंगिमा- अंगसंचालन, अंदाज, अदा, भावप्रवणता, अभिनयप्रवणता, बांकपन।
भंगुर- नश्वर, अस्थायी, नाशवान, क्षणिक, त्रुटिशील, नाजुक।
भंडा- भेद, रहस्य, गुप्त बात।
भंडार- आगार, भंडारगार, गोदाम, मालखाना।
भगवान- ईश्वर, परमेश्वर, जगतपालक, सृष्टिकर्ता।
भगिनी- बहन, बहिन, दीदी, जीजी, सहोदर।
भगोड़ा- फरार, भागा हुआ, डरपोक।
भट- योद्धा, सैनिक, सिपाही, वीर, लड़ाका, बहादुर।
भड़कीला- भड़कदार, चमकीला, अलंकृत, चटकदार, चटकीला।
भद्दा- कुरूप, बेडौल, भोंडा, बदसूरत, बदशक्ल, अभद्र, घृणित।
भद्रता- शिष्टता, सभ्यता, विनय, नम्रता।
भयंकर- डरावना, भयानक, भयावह, विकराल, खौफनाक।
भयभीत- आशंकाग्रस्त, आशंकित, डरा हुआ, त्रसित।
भरपूर- पूरा-पूरा, प्रचुर, पर्याप्त, पूर्ण रूप से, अच्छी तरह से।
भरम- 1. भ्रम, संदेह, संशय 2. भेद, रहस्य।
भरोसा- आश्रय, सहारा, आशा, विश्वास, संभावना, उम्मीद, तसल्ली।
भर्ता- अधिपति, पति, भतार, जीवनसाथी, स्वामी, मालिक, प्रतिपालक, रक्षक, पालक।
भर्त्सना- निन्दा, शिकायत, डाँट-डपट, दुत्कार, फटकार, तिरस्कार।
भला- 1. साधु, सज्जन, सदाचारी, सज्जन 2. अच्छा, नेक, शुभ, बढ़िया, कल्याणकारी, लाभदायक, श्रेष्ठ।
भविष्य- भावी, अनागत, होनी, आगामी समय।
भविष्यद्रष्टा- दिव्यदर्शी, दूरदर्शी।
भव्य- शानदार, आकर्षक, मनोहर, सुन्दर, दिव्य।
भाँड- भाँडा, बर्तन, पात्र।
भाग- हिस्सा, खंड, टुकड़ा, अंग 2. बाँट, विभाग, विभाजन।
भाग्य- किस्मत, तकदीर, नसीब, नियति, भावी, किस्मत।
भाग्यशाली- सौभाग्यशाली, भाग्यवान, खुशनसीब, मुक़द्दर का सिकन्दर।
भाट- भाँड, गवैया।
भानु- सूर्य, रवि, दिनकर, आदित्य, दिवाकर, दिनमणि।
भामा- स्त्री, औरत, महिला, नारी, अबला।
भारत- भारतवर्ष, हिन्दुस्तान, हिन्द, हिन्ददेश, हिन्दुस्तान, इंडिया।
भारी- भारवान, बोझिल, भारयुक्त, वजनी, वजनदार।
भाव- 1. आशय, तात्पर्य, अभिप्राय, मतलब 2. भावना, ख्याल, विचार 3. भक्ति, विश्वास, श्रद्धा 4. दर, मूल्य, कीमत।
भावना- कल्पना भाव, विचार, ख्याल।
भावुक- संवेदनशील, भावप्रवाण।
भाषांतर- उल्था, तरजुमा, अनुवाद।
भाषा- बोली, जबान, वाणी, उच्चारण, कथन, भाषण।
भाषा विज्ञान- शब्द शास्त्र, शब्द विज्ञान, भाषाशास्त्र।
भिक्षा- भीख, मधुकरी।
भिक्षुक- 1. भिखमंगा, भिखारी 2. साधु, संन्यासी, फकीर।
भिड़न्त- 1. संघर्ष, टक्कर, धक्का 2. मुकाबला, सामना।
भिन्न- 1. असंगत, अनमेल, बेमेल 2. अलग, पृथक, जुदा 3. अन्य, दूसरा, पराया।
भीड़- जनता, जनसमूह, जमघट, भीड़-भड़क्का।
भीत- डर, भय, त्रास, आशंका।
भीम- 1. भीषण, भयानक, भयंकर, भयावह 2. विशाल, बड़ा, भारी, भरकम।
भीरू- डरपोक, कायर, भयशील।
भीरुता- कायरता, डर, भय, भयशीलता।
भीषण- भयानक, डरावना, भयंकर, भयावह, विकट।
भुगतान- निबटारा, भरपाई, वापसी, निपटान, अदायगी, चुकती।
भुजंग- साँप, सर्प, फनी, फणधर।
भुज- भुजा, बाहु, बाँह, हाथ।
भुवन- जगत, संसार, दुनिया, विश्व, ब्रह्माण्ड, जगत।
भू- पृथ्वी, धरती, भूमि, जमीन, स्थान, जगह।
भूख- 1. क्षुधा, बुभुक्षा 2. कामना, अभिलाषा, लालसा, तीव्र इच्छा।
भूत- प्रेत, जिन, पिशाच, शैतान 2. भूतकाल, अतीतकाल
भुतिनी- चुड़ैल, डायन, प्रेतनी, पिशाचनी।
भूमिका- 1. पृष्ठभूमि, परिचय, प्रस्तावना, मुखबंध 2. अभिनय, कलाकारी, रोल, पार्ट।
भूल- 1. गलत, चूक, भूल-चूक, अशुद्धि 2. अपराध, दोष, कसूर 3. छूट, बिसराव।
भेंट- मिलन, मुलाकात, नजराना, तोहफा, इनाम, उपहार।
भेषज- औषध, दवा, दवाई, औषधि।
भोला- सीधा, सरल, उदार, निश्छल, कपटहीन।
भौं- भ्रू , भौंह, भृकटी, तेवर, भँव, त्यौरी।
भौचक्का- हक्का-बक्का, आश्चर्यचकित, हैरान, चकित।
भ्रम- धोखा, संदेह, शक, भूल, गलतफ़हमी।
भ्रष्टाचार- भ्रष्टता, दुराचरण, दुराचारिता, व्यभिचार, दुराचार।
भ्रामक- भ्रांतिमय, संदेहास्पद, संशयास्पद, भ्रमात्मक।

( म )

मछली- मीन, मत्स्य, झख, झष, जलजीवन, शफरी, मकर।
महादेव- शम्भु, ईश, पशुपति, शिव, महेश्र्वर, शंकर, चन्द्रशेखर, भव, भूतेश, गिरीश, हर, त्रिलोचन।
मेघ- घन, जलधर, वारिद, बादल, नीरद, वारिधर, पयोद, अम्बुद, पयोधर।
मुनि- यती, अवधूत, संन्यासी, वैरागी, तापस, सन्त, भिक्षु, महात्मा, साधु, मुक्तपुरुष।
मित्र- सखा, सहचर, स्नेही, स्वजन, सुहृदय, साथी, दोस्त।
मोर- केक, कलापी, नीलकंठ, शिखावल, सारंग, ध्वजी, शिखी, मयूर, नर्तकप्रिय।
मनुष्य- आदमी, नर, मानव, मानुष, जन, मनुज।
मदिरा- शराब, हाला, आसव, मधु, मद्य, वारुणी, सुरा, मद।
मधु- शहद, रसा, शहद, कुसुमासव।
मृग- हिरण, सारंग, कृष्णसार।
माता- जननी, माँ, अंबा, जनयत्री, अम्मा।
मूर्ख- गँवार, अल्पमति, अज्ञानी, अपढ़, जड़।
मृत्यु- देहांत, मौत, अंत, स्वर्गवास, निधन, देहावसान, पंचत्व, इंतकाल, काशीवास, गंगालाभ, निर्वाण, मरण।
माँ- अंबा, अम्बिका, अम्मा, जननी, धात्री, प्रसू।
मुर्गा- तमचूक, अरुणशिखा, ताम्रचूड़, कुक्कुट।
मग- पन्थ, मार्ग, बाट, पथ, राह।
मूढ़- मूर्ख, अज्ञानी, निर्बुद्धि, जड़, गंवार।
मैना- सारी, सारिका, त्रिलोचना, मधुरालाषा, कलहप्रिया।
मूँगा- प्रवाल, रक्तांग, विद्रुम, रक्तमणि।
मंजुल- मोहक, मनोहर, आकर्षक, शोभनीय, सुंदर।
मंजूषा- संदूक, बक्स, पिटारी, पिटक, पेटी, झाँपी।
मंतव्य- अभिमत, सम्मति, राय, सलाह, विचार।
मंसूख- रद्द, निरस्त, ख़ारिज, निरसित।
मकड़ी- मकरी, लूता, लूतिका, लूत।
मकतब- स्कूल, पाठशाला, विद्यालय, विद्यापीठ।
मकर- मगर, मगरमच्छ, घड़ियाल, नक्र, ग्राह, झषराज।
मजार- मकबरा, समाधि, कब्र, इमामबाड़ा।
मटका- कुंभ, झट, घड़ा, कलश।
मत्सर- द्वेष, ईर्ष्या, कुढ़न, जलन, डाह।
मनीषा- मति, बुद्धि, मेधा, प्रज्ञा, विचार।
मयूख- किरन, किरण, रश्मि, अंशु, मरीचि।
मरघट- मसान, मुर्दघाट, श्मशान, श्मशानघाट।
मरहूम- स्वर्गवासी, मृत, गोलोकवासी, दिवंगत।
मराल- हंस, राजहंस, सितपक्ष, धवलपक्ष।
मरुत- पवन, वायु, हवा, वात, समीर, मारुत।
मर्कट- बंदर, कपि, कीश, वानर, शाखामृग।
मशहूर- नामी, प्रसिद्ध, ख्यात, विख्यात, ख्यातिप्राप्त, प्रख्यात।
महक- खुशुबू, सुवास, सुगंध, सुगंधि, सौरभ।
महाभारत- भारत, जयकाव्य, पंचमवेद, जय, महायुद्ध।
महावत- हाथीवान, पीलवान, फीलवान, आकुंशिक।
मिथुन- युग्म, युगल, जोड़ा, यमल।
मुकुट- ताज, उष्णीष, किरीट, राजमुकुट।
मुकुल- कलिका, कली, शिगूफा, कोरक, गुंजा।
मुगालता- भ्रांति, भ्रम, गलतफ़हमी, मतिभ्रम।
मुदर्रिस- शिक्षक, अध्यापक, गुरु, आचार्य, उस्ताद।
मृषा- मिथ्या, झूठ, असत्य, अनृत।
मोक्ष- मुक्ति, परधाम, निर्वाण, कैवल्य, सद्गति, निर्वाण, परमपद, अपवर्ग।
मँगनी- वरेच्छा, बरिच्छा, बरेखी, सगाई।
मंगल- कल्याण, भलाई, हित, कुशलत।
मंजिल- 1. लक्ष्य, ठहराव, विश्रामस्थल 2. तल्ला, खंड।
मंजूरी- समर्थन, अनुमति, स्वीकृति, मान्यता, सहमति।
मंडन- 1. श्रृंगार, सजावट, रूप, सज्जा 2. समर्थन, सहमति, स्वीकृति, मंजूरी, पुष्टीकरण।
मंडल- 1. घेरा, गोलाई, वृत्त, परिधि 2. वर्ग, समुदाय, झुंड, टोली, जत्था।
मंडित- आभूषित, अलंकृत, सज्जित, सजा हुआ, श्रृंगारित, सुशोभित।
मंथन- 1. मथना, बिलोना, विलोड़न 2. छान-बीन, तलाश, खोज।
मंथर- मंद, धीमा, वेगहीन, वेगरहित।
मंदता- 1. धीमापन, सुस्ती, वेगहीनता 2. हल्कापन, निस्तेजिता 3. कमजोरी, असमर्थता।
मंदा- 1. मंद, धीमा, सुस्त 2. ढीला, कसावहीन 3. सस्ता, अल्पमूल्यवान।
मक्कार- धूर्त, धोखेबाज, कपटी, छली, विश्वासघाती।
मगज- दिमाग, मस्तिष्क, भेजा।
मगन- मग्न, प्रसन्न, खुश, आनंदित, प्रशन्नचित्त।
मगर- ग्राह, नक, घड़ियाल।
मगरा- घमंडी, उद्यंड, अहंकारी, अभिमानी, जिद्दी, मगरूर।
मजदूर- श्रमिक, सेवक, कुली, दास।
मजबूत- 1. ठोस, स्थिर, दृढ़, अटल 2. हष्ट-पुष्ट, हट्टा-कट्टा, तंदुरुस्त, बलवान, शक्तिशाली।
मजलिस- सभा, महफिल, गोष्ठी, मीटिंग।
मट्ठा- माठा, छाछ।
मत- सम्मति, राय, विचार, धारणा।
मतभेद- विभेद, असम्मति, असहमति, विरोध, प्रतिकूलता, भिन्नमत।
मद- नशा, मदहोशी, शराब, गर्व, अभिमानी, अहंकार, घमंड।
मधुकर- भ्रमर, भौंरा, मधुप।
मध्य- बीच, दरम्यान, माँझ।
मध्यम- मध्य का, बीच का, औसतमान का।
मन- 1. चित्त, ह्रदय, अंतःकरण, दिल, अंतर 2. इच्छा, इरादा, विचार, तबीयत।
मनगढ़ंत- काल्पनिक, कल्पित, संकल्पज, ख्याली।
मनचाहा- इच्छित, अभीष्ट, वांछित, चाहा हुआ।
मनन- चिन्तन, अवधारण, स्मरण, विचार, ध्यान।
मनस्ताप- 1. मन कष्ट, मानसिक दुःख, आन्तरिक दुःख, संताप मन 2. अनुताप, पश्चाताप, पछतावा।
मनीषी- ज्ञानी, पंडित, विद्वान, बुद्धिमान, अक्लमंद, चिन्तक।
मनुहार- खुशामद, विनय, विनती, प्रार्थना, अनुरोध, सिफारिश।
मनोज्ञ- सुन्दर, मनोहर, मनभावन, चित्ताकर्षक, मनोरम, ह्रदयग्राही।
मनोरंजन- मनोविनोद, मनबहलाव, आमोद-प्रमोद, आनंद, मजा।
मरतबा- दफा, पारी, बार, पद।
मरना- परलोक सिधारना, देहांत होना, शरीर छोड़ना, मृत्यु होना, प्राण त्यागना, चल बसना।
मरम्मत- सुधार, सँवार, जीर्णाद्धार, त्रुटिनिवारण।
मरा हुआ- निर्जीव, निष्प्राण, मृत, प्राणहीन, मुर्दा, बेजान।
मर्द- 1. मनुष्य, पुरुष, नर, व्यक्ति 2. पति, स्वामी, दूल्हा 3. वीर, बहादुर, साहसी, हिम्मती, शूर।
मलिन- मैला, गंदा, दूषित, खराब, अस्वच्छ।
मवाद- पीब, पस।
मशाल- अग्निशलाका, प्रदीप्त काष्ठ खंड, दीपदंड।
मसखरा- हँसोड़, विदूषक, ठिठोलिया, मजाकिया, जोकर।
मस्तिष्क- भेजा, दिमाग, मगज, बुद्धि।
महत्त्व- महानता, अहमियत, महिमा, महता, श्रेष्ठता।
महल- राजप्रसाद, राजभवन,, राजसदन।
महसूल- 1. कर, टैक्स, शुल्क, लगान, मालगुजारी 2. भाड़ा, किराया।
महाजन- महापुरुष, श्रेष्ठ, पुरुष, श्रेष्ठ व्यक्ति, सेठ, बनिया।
महात्मा- महापुरुष, महाशय, उदारत्मा, श्रेष्ठ व्यक्ति।
महाल- मुहल्ला, टोला।
महाव्योम- अंतरिक्ष, आकाश, आसमान, गगन।
महिमा- महत्ता, गौरव, बड़ाई, प्रताप, महत्त्व।
महिषी- 1. महारानी, पटरानी, राजरानी 2. भैंस।
मही- पृथ्वी, धरा, धरती, वसुंधरा, भू, भूमि।
महीन- पतला, बारीक़, सूक्ष्म, झीना।
माँग- 1. चाह, आवश्यकता, फरमाइश, अनुरोध, आग्रह 2. प्रार्थना, याचना।
मांगलिक- कल्याणकारी, मंगलमय, मंगलकारी, मंगलसूचक, शुभ।
माँझी- केवट, कर्णधार, मल्लाह, नाविक।
माँसल- 1. गूदेदार, गुदगुदा 2. मोटा-ताजा, हष्ट-पुष्ट, तंदुरुस्त।
माणिक- मणि, माणिक्य, चन्द्रकांत, सूर्यकांत, मनिक।
मातम- मृत्युशोक, शोक।
माथा- 1. भाल, ललाट, मस्तक 2. सिर, खोपड़ी।
माधुरी- मधुरता, मिठास, माधुर्य, मधुरिमा।
मान- गौरव, प्रतिष्ठा, सम्मान, इज्जत, मर्यादा, यश।
मानक- आदर्श, प्रतिमान, कसौटी।

मानव- मनुष्य, आदमी, व्यक्ति।
मानी- अहंकारी, अभिमानी, घमंडी।
मान्य- 1. सत्य, सप्रमाण, प्रामणिक, वैद्य 2. माननीय, सम्मानीय, पूजनीय, पूज्य।
माफी- क्षमा, मुक्ति, विमुक्ति।
मामला- काम, बात, विषय।
मामूली- सामान्य, साधारण, महत्त्वहीन, औसत दर्जे का।
माया- 1. इंद्रजाल, कपट, छल, धोखा, दृष्टिभ्रम 2. लीला।
मायावी- आभासी, मायामय, फ़रेबी, छली, धूर्त।
मार्ग- रास्ता, पथ, सड़क, राह।
मार्मिक- मर्मस्पर्शी, ह्रदयस्पर्शी, हृदयविदारक।
मालदार- समृद्ध, सम्पन्न, वैभवशाली, धनवान, धनी, धनिक।
माहात्म्य- महिमा, महत्त्व, बड़ाई, गरिमा, महानता।
माहुर- विष, जहर, हलाहल।
मिजाज- 1. स्वभाव, तबीयत, दिल 2. गर्व, घमंड, अहंकार, अभिमान।
मिती- तारीख, दिनांक, तिथि।
मिथ्या- 1. असत्य, झूठा 2. कृत्रिम, बनावटी।
मिलन- 1. मेल, संयोग 2. मिलाप, भेंट, दर्शन 3. मिश्रण, मिलावट, सम्मेलन।
मिलावट- मिश्रण, समिश्रण।
मीठा- मिष्ट, मधुर, प्रियस्वादु, रसीला, मिठाई, मिष्ठान्न।
मुँह- 1. मुख आनन 2. चेहरा, शक्ल, आकृति, मुखाकृति, मोहरा।
मुँहजोर- उद्यंड, अशिष्ट, उच्छृंखल।
मुकदमा- दावा, मामला, वाद, केस।
मुकुर- शीशा, दर्पण, आदर्श, आइना।
मुक्त- बंधनरहित, स्वतंत्र, आजाद, खुला।
मुक्ति- 1. मोक्ष, स्वर्ग 2. छुटकारा, छूट, रिहाई, आजादी, स्वतंत्रता।
मुखिया- प्रधान नेता, सरदार, अगुआ।
मुख्य- 1. प्रधान, प्रमुख विशेष उत्तम श्रेष्ठ 2. आवश्यक, महत्त्वपूर्ण, प्राथमिक।
मुग्ध- आकर्षण, मोह, लुब्धता, तल्लीननता।
मुग्धमति- मूर्ख, मूढ़, बेवकूफ, अनाड़ी।
मुठभेड़- 1. टक्कर, भिडंत, हाथापाई, लड़ाई 2. सामना, भेंट, मिलाप, मिलन।
मुद्रा- सिक्का, रुपया, धन, पैसा 2. शील, मोहर, छाप।
मुनाफा- लाभ, नफा, फायदा।
मुनि- ऋषि, तपस्वी, त्यागी, व्रती, योगी।
मुफ़्त- व्यर्थ, फिजूल, निरर्थक, फोकट, निःशुल्क।
मुलाकात- मिलन, भेंट, मेल, मिलाप, दर्शन।
मुलायम- सुकुमार, कोमल, लचीला, गुदगुदा, नरम, नाजुक।
मुसीबत- 1. तकलीफ, कष्ट, क्लेश, दिक्कत, मुश्किल, परेशानी, दुःख 2. आपत्ति, विपत्ति, संकट, आपदा, विपदा, कठिनाई।
मुहब्बत- प्रेम, प्यार, लगाव, लगन, स्नेह, इश्क।
मुहिम- 1. युद्ध, लड़ाई, आक्रमण 2. चढ़ाई, आंदोलन।
मूक- गूँगा, अवाक, वाणीरहित, चुप, मौन।
मूलधन- पूँजी, असल, सरमाया।
मूल्यवान- बहुमूल्य, कीमती, अनमोल।
मृगतृष्णा- मरीचिका, मृगमरीचिका।
मृगया- शिकार, आखेट, अहेर।
मृदु- 1. कोमल, नरम, मुलायम, नाजुक 2. सुहावना, प्रिय, मधुर, रुचिकर 3. धीमा, मंद, हलका।
मेधावी- प्रतिभावान, बुद्धिमान, विद्वान, दिमागवाला।
मेल- 1. मिलाप, संयोग, संयोजन 2. जोड़, बराबरी, समानता, एकता 3. मिलावट, मिश्रण, घोल-माल।
मेल-जोल- मेल-मिलाप, मेल, मुहब्बत, पारस्परिक, समझौता।
मेहनत- श्रम, परिश्रम, उद्योग।
मेहनती- परिश्रमशील, कर्मठ, उद्यमी, उद्योगी, परिश्रमी, प्रयत्नशील।
मेहमान- अतिथि, पाहुना।
मेहमानदारी- आदर-सत्कार, आतिथ्य, अतिथि, मेहमानवाजी।
मैत्री- मित्रता, दोस्ती, स्नेहभाव, मेल-जोल, भाई-चारा, प्रेम, स्नेह।
मैला- अपवित्र, अशुद्ध, मलिन, गंदा, अस्वच्छ।
मोती- मौक्तिक, मुक्ता, शुक्तिज।
मोर- मयूर, शिखी, सारंग, सर्पकाल।
मोह- 1. अज्ञान, नासमझी, मूर्खता 2. ममता, माया, स्नेह, प्यार, प्रेम।
मोहक- आकर्षक, मनोहरता, लुभावनापन, दिलचस्प।
मोहित- मुग्ध, लुब्ध, आकर्षित।
मौन- शांत, चुप, खामोश, मितभाषी, अल्पभाषी।
मौलि- 1. मस्तष्क, ललाट, माथा 2. किरीट, मुकुट, ताज।
मौलिक- मूलभूत, आधारभूत, अकृत्रिम, वास्तविक, असली।
म्लान- 1. मलिन, मैला, गंदा, दूषित 2. कमजोर, दुर्बल, बलहीन।

( य )

यम- सूर्यपुत्र, जीवितेश, श्राद्धदेव, कृतांत, अन्तक, धर्मराज, दण्डधर, कीनाश, यमराज।
यमुना- कालिन्दी, सूर्यसुता, रवितनया, तरणि-तनूजा, तरणिजा, अर्कजा, भानुजा।
यंत्रणा- व्यथा, तकलीफ, वेदना, यातना, पीड़ा।
यकीन- भरोसा, ऐतबार, आस्था, विश्वास।
यकृत- जिगर, कलेजा, जिगरा, पित्ताशय।
यक्ष्मा- टी.बी., तपेदिक, राजरोग, क्षय।
यज्ञोपवीत- जनेऊ, उपवीत, ब्रह्मसूत्र।
यतीम- बेसहारा, अनाथ, माँ-बापविहीन।
यशस्वी- मशहूर, विख्यात, नामवर, कीर्तिवान, ख्यातिवान।
यशोदा- यशोमति, जसोदा, नंदरानी।
यशोधरा- गौतम-पत्नी, गौतमी, गोपा।
याज्ञसेनी- पांचाली, द्रौपदी, सैरंध्री, द्रुपदसुता, कृष्णा।
याद- स्मृति, स्मरण, स्मरण-शक्ति, सुध, याद्दाश्त।
याम- पहर, प्रहर, बेला, वेला, जून।
यामिनी- रजनी, रात, रात्रि, रैन, राका, निशा।
युग- जुग, दौर, मन्वंतर, काल, कल्प, जमाना।
युद्ध- संग्राम, संघर्ष, समर, लड़ाई, रण, द्वंद्व।
युद्धभूमि- रणक्षेत्र, रणभूमि, समरभूमि, संग्रामभूमि, युद्धस्थल।
युधिष्ठिर- कौन्तेय, धर्मराज, धर्मपुत्र, अजातशत्रु।
योषा- योषिता, नारी, स्त्री, औरत, वनिता, महिला, तिरिया।
योम- दिवस, दिनमान, दिन, अह, सूर्यकाल।
यंत्र- मशीन, कलम संयंत्र, उपकरण, औजार।
यकायक- अचानक, एकाएक, सहसा।
यकीनन- निश्चित, निःसंदेह, अवश्य, बेशक, जरूर।
यज्ञ- याग, हव, हवन, होम, ज्योतिष्टोम, अनुष्ठान।
यति- 1. संन्यासी, तपस्वी, साधु 2. विश्राम, विराम, विरति।
यत्न- 1. कोशिश, प्रयत्न, प्रयास, चेष्टा 2. युक्ति, उपाय, जतन, उपचार।
यत्र- तत्र- इधर-उधर, जहाँ-तहाँ, सर्वत्र, जगह-जगह।
यथार्थ- 1. ठीक, उचित 2. सत्य, वास्तविक, असली, सच्चा, सही।
यथेष्ट- अभीष्ट, इच्छानुसार, इच्छित, मनमाना।
यश- ख्याति, कीर्ति, प्रसिद्धि, प्रशंसा, बड़ाई, नाम।
याचना- विनती, विनय, निवेदन, प्रार्थना।
याचिका- प्रार्थना-पत्र, आवेदन-पत्र, अभ्यर्थना-पत्र।
यातना- तकलीफ, पीड़ा, दुःख, कष्ट, परेशानी।
यात्रा- सफ़र, सैर, प्रस्थान, भ्रमण, गति।
यान- 1. वाहन, सवारी, गाड़ी 2. वायुयान, विमान, हवाई जहाज।
युक्त- मिला हुआ, जुड़ा हुआ, मिश्रित, संयुक्त।
युक्ति- 1. उपाय, ढंग, तरकीब 2. कौशल, चातुरी, योग्यता, चतुराई, होशियारी।
युद्ध- रण, जंग, लड़ाई, संघर्ष।
युवक- युवा, तरुण, कुमार, जवान, नौजवान।
युवती- तरुणी, बाला, कुमारी, रमणी, यौवनवती।
युवावस्था- जवानी, तरुणाई, यौवन, जोबन।
यूथ- 1. समूह, झुंड, समुदाय 2. सेना, फौज, कटक, लश्कर।
योग- मेल, मिलन, संयोग, जोड़, तपस्या।
योग्य- कुशल, क्षमताशील, शक्तिमान, कार्यक्षम, काबिल, लायक।
योजना- परिकल्पना, रुपरेखा, प्रोजेक्ट, प्लान, कार्यव्यवस्था।
यौवन- युवावस्था, जवानी, जोबन, तारुण्य, तरुणावस्था।

( र )

रात्रि- निशा, क्षया, रैन, रात, यामिनी, रजनी, त्रियामा, क्षणदा, शर्वरी, तमस्विनी, विभावरी।
रात- रात्रि, रैन, रजनी, निशा, यामिनी, तमी, निशि, यामा, विभावरी।
राजा- नृपति, भूपति, नरपति, नृप, महीप, राव, सम्राट, भूप, भूपाल, नरेश, महीपति, अवनीपति।
रवि- सूरज, दिनकर, प्रभाकर, दिवाकर, सविता, भानु, दिनेश, अंशुमाली, सूर्य।
रमा- इन्दिरा, हरिप्रिया, श्री, लक्ष्मी, कमला, पद्मा, पद्मासना, समुद्रजा, श्रीभार्गवी, क्षीरोदतनया।
रामचन्द्र- अवधेश, सीतापति, राघव, रघुपति, रघुवर, रघुनाथ, रघुराज, रघुवीर, रावणारि, जानकीवल्लभ, कमलेन्द्र, कौशल्यानन्दन।
रावण- दशानन, लंकेश, लंकापति, दशशीश, दशकंध, दैत्येन्द्र।
राधिका- राधा, ब्रजरानी, हरिप्रिया, वृषभानुजा।
रक्त- खून, लहू, रुधिर, शोणित, लोहित।
राक्षस- दैत्य, असुर, निशाचर।
रंक- गरीब, दरिद्र, कंगाल, निर्धन, धनहीन।
रंग-रूप- रूप, मुखाकृति, सूरत, शक्ल, गुण।
रंगीला- 1. रसिया, रसिक, छैला, बाँका 2. सुन्दर, खूबसूरत, आकर्षक, मनोहर 3. प्रेमी, स्नेही, आशिक।
रंघ्र- छेद, सूराख, छिद्र, बिल।
रक्त- लहू, रक्तिम, खून।
रक्तपात- खून-खराबा, मार-काट, नरसंहार, लड़ाई-झगड़ा।
रक्षा- संरक्षण, सुरक्षा, प्रतिरक्षा, हिफाजत, बचाव, रखवाली।
रखवाली- रक्षा, देखभाल, देखरेख, निगरानी, पहरेदारी, बचाव।
रजनी- रात, रात्रि, निशा, यामिनी।
रण- लड़ाई, युद्ध, संग्राम, जंग, संघर्ष।
रणभूमि- संग्रामभूमि, युद्धस्थल, युद्ध क्षेत्र, वीरभूमि, मैदान-ए-जंग।
रत- अनुरक्त, आसक्त, लिप्त, निमग्न।
रत्ती- जरा सा, थोड़ा सा, रत्तीभर।
रत्नाकर- समुद्र, सागर, अर्णव, वारिध।
रब्त- मेलजोल, मेल-मिलाप, सम्पर्क, सम्बन्ध।
रमण- स्त्री, मैथुन, संभोग, रतिविलास, कामक्रीड़ा।
रम्य- सुन्दर, मनोहर, मनभावन, मनमोहक, आकर्षक, ह्रदयस्पर्शी।
रवैया- चलन, तौर-तरीका, रंग-ढंग।
रश्क- ईर्ष्या, डहन, जलन, द्वेष।
रस- 1. जूस, रस 2. प्रीति, प्रेम, मुहब्बत 3. आनंद, मजा, मौज।
रसीला- रसयुक्त, रसवान, मधुर, मीठा, मृदु, मृदुल।
राका- पूर्णमासी, पूर्णिमा, पूनम।
राग- प्रेम, अनुराग, आसाक्ति, लगाव।
राज- शासन, हुकूमत।
राज्यपाल- गर्वनर।
राधा- राधिका, वृषभानुजा, वृषभानुनंदिनी, कीर्ति-किशोरी, ब्रजरानी।
रानी-मालकिन, बेगम, राजपत्नी, महरानी, राज्ञी, महिषी।
राय- मत, सलाह, विचार, विश्वास, सिद्धान्त, परामर्श।
राशि- ढेर, समूह, भंडार।
रासभ- गधा, गदहा, रजकवाहन, खर, खच्चर।
राहगीर- राही, मुसाफिर, पथिक, बटोही, यात्री।
रिक्त- खाली, शून्य, खोखला, खोखा।
रिपु- शत्रु, दुश्मन, वैरी, विरोधी, द्वेषी।
रिश्ता- सम्बन्ध, सम्पर्क, नाता, नातेदारी, रिश्तेदारी, मेल।
रिश्वत- घूस, नजराना, कमीशन, बख्शीश।
रिहाई- छुटकारा, मुक्ति, छुट्टी, विमुक्ति, विमोचन।
रीति- 1. ढंग, तरह, प्रकार 2. विधि, तरीका, पद्धति 3. रस्म, रिवाज, प्रथा, परम्परा 4. कायदा, नियम, कानून, विधान।
रुकावट- बाधा, अड़चन, विघ्न, रुकाव, अटकाव, अडंगा, विराम, ठहराव।
रुग्ण- रोगग्रस्त, रोगी, बीमार, अस्वस्थ।
रुचि- चाह, इच्छा, अभिलाषा, कामना, पसंद, प्रेम, दिलचस्पी।
रूढ़ि– रीति, रस्म, रिवाज, प्रथा, परम्परा।
रूप- शक्ल, सूरत, आकार, बनावट, चेहरा-मोहरा, नैन-नक्शा, रूपरंग।
रेत- बालु, रेणु, रेणुका, बालुका।
रोक- रुकावट, रुकाव, अटकाव, अटक, विराम।
रोकथाम- संयम, नियंत्रण, रोक, प्रतिबंध, रुकावट।
रोग- व्याधि, बीमारी, रुग्णता, अस्वस्थता।
रोगी- व्याधिग्रस्त, रुग्ण, बीमार, अस्वस्थ, रोगग्रस्त।
रोचक- रुचिकर, प्रिय, दिलचस्प, मनोरंजक, मनमोहक, मनोहर, सुहावना।
रोजगार- 1. कारोबर, पेशा, जीविका, काम, धंधा 2. व्यवसाय, व्यापार, वाणिज्य।
रोटी- 1. चपाती, फुलकी, फुलका 2. जीविका, रोजगार, कारोबार, काम धंधा, निर्वाह।
रोना- आँसू बहाना, विलाप करना, बिलखना, रोदन करना।
रोब- प्रभाव, आतंक, दबदबा।
रोशनी- 1. उजाला, प्रकाश, जगमगाहट, चमक 2. दीपक, चिराग, दीया।
रोष- 1. क्रोध, गुस्सा, चिढ 2. वैर, विरोध, दुश्मनी, शत्रुता, प्रतिकूलता।
रौ- गति, चाल, वेग, धुन, सनक।
रौबदार- गौरवशाली, प्रभावशाली, तेजस्वी, प्रशसनीय।

( ल )

लक्ष्मी- चंचला, कमला, पद्मा, रमा, हरिप्रिया, श्री, इंदिरा, पद्ममा, सिन्धुसुता, कमलासना।
लड़का- बालक, शिशु, सुत, किशोर, कुमार।
लड़की- बालिका, कुमारी, सुता, किशोरी, बाला, कन्या।
लक्ष्मण- लखन, शेषावतार, सौमित्र, रामानुज, शेष।
लौह- अयस, लोहा, सार।
लता- बल्लरी, बल्ली, लतिका, बेली।
लंघन- उपवास, व्रत, रोजा, निराहार।
लक्षण- 1. चिन्ह, निशान, दाग 2. पहचान, स्वभाव, गुण, विशेषता।
लक्ष्य- निशान, उद्देश्य, निर्दिष्ट स्थान, ठिकाना, मंजिल।
लगातार- निरंतर, अविराम, बराबर, सर्वदा, नित्य, क्रमिक।
लगाव- लगावट, सम्बन्ध, प्रेम, प्रीति, वास्ता।
लग्न- 1. मुहूर्त, लगन 2. विवाह, शादी, ब्याह।
लघु- 1. छोटा, संकुचित संकीर्ण 2. कम, थोड़ा, अल्प, न्यून।
लज्जा- 1. लाज, शर्म, हया, संकोच, झिझक 2. मान, मर्यादा, प्रतिष्ठा, सम्मान, गौरव, गरिमा।
लड़ाई- भिडंत, टकराव, हाथापाई, युद्ध, जंग, संग्राम।
लपट- 1. लौ, ज्वाला, भभूका, जलाक 2. लू, गर्म, हवा।
ललित- सुन्दर, मनोहर, मनभावन, रमणीय।
लहर- 1. हिलोर, लहरी, तरंग, कल्लोल 2. उमंग, जोश, मौज, आनंद।
लाचार- विवश, मजबूर, असमर्थ, बेबस, बाध्य।
लाभ- प्राप्ति, मुनाफा, फायदा, नफा।
लाल- पुत्र, बेटा, नंदन, तनय, आत्मज।
लालच- लोभ, लिप्सा, तृष्ण, प्रलोभन, लालसा।
लाली- अरुणता, ललाई, लालिमा, राग, लालपन।
लिप्त- लीन, तल्लीन, मग्न, निमग्न, अनुरक्त, आसक्त।
लिहाज- 1. शील, संकोच 2. रियायत, पक्षपात, तरफदारी 3. लाज, शर्म, हया।
लीन- 1. तल्लीन, रत, मग्न, तन्मय, संलग्न 2. लुप्त, गायब।
लुच्चा – दुराचारी, बदमाश, कमीना, कुकर्मी।
लुटेरा- अपहर्ता, अपहरणकर्ता, डाकू, डकैत।
लुत्फ- आनंद, सुख, मजा, मस्ती, हर्ष, रोचकता।
लुप्त- गुप्त, अप्रकट, अदृश्य, गायब, अंतर्धान, गुम।
लेखक- ग्रंथकर्ता, ग्रंथकार, रचयिता, रचनाकर, साहित्यकार।
लोक- 1. संसार, विश्व, दुनिया, जगत 2. लोग, जन, प्राणी, मनुष्य, मानव, इंसान।
लोकतंत्र- जनतंत्र, गणतंत्र, प्रजातंत्र, लोकशाही।
लोचन- आँख, नयन, नेत्र, चक्षु।
लोभ- लालच, तृषा, तृष्णा, लिप्सा, स्पृहा।
लोभी- लालची, स्पृह, इच्छुक, पिपासु, उत्सुक, तृष्णालु।
लोलुप- लोभी, लालची, आकांक्षी, उत्सुक।
लौ- 1. लपट, ज्वाला, दीपशिखा 2. लगन, चाह, तृष्णा।
लौटना- फिरना, घूमना, वापस आना, मुड़ना।

( व )

वृक्ष- तरू, अगम, पेड़, पादप, विटप, गाछ, दरख्त, शाखी, विटप, द्रुम।
विवाह- शादी, गठबंधन, परिणय, व्याह, पाणिग्रहण।
वायु- हवा, पवन, समीर, अनिल, वात, मारुत।
वसन- अम्बर, वस्त्र, परिधान, पट, चीर।
विधवा- अनाथा, पतिहीना।
विष- ज़हर, हलाहल, गरल, कालकूट।
विष्णु- नारायण, दामोदर, पीताम्बर, माधव, केशव, गोविन्द, चतुर्भज, उपेन्द्र, जनार्दन, चक्रपाणि, विश्वम्भर, लक्ष्मीपति, मधुरिपु।
विश्व- जगत, जग, भव, संसार, लोक, दुनिया।
विद्युत- चपला, चंचला, दामिनी, सौदामिनी, तड़ित, बीजुरी, घनवल्ली, क्षणप्रभा, करका।
वारिश- वर्षण, वृष्टि, वर्षा, पावस, बरसात।
वीर्य- शुक्र, धातु, बीज, बल, शक्ति, ताकत, वीरता, मर्दानगी, मुख-आभा।
वज्र- कुलिस, पवि, अशनि, दभोलि।
विशाल- विराट, दीर्घ, वृहत, बड़ा, महा, महान।
वर्षा- पावस, बरसात, वर्षाकाल, चौमासा, वर्षाऋतु।
वसन्त- मधुमास, माधव, कुसुमाकर, ऋतुराज।
वन- कानन, विपिन, अरण्य, कांतार।
वंचक- धूर्त, धोखेबाज, ठग, खल, फ़रेबी, दगाबाज।
विदित- विमुख, रहित, हीन, शून्य।
वंदना- स्तुति, प्रणाम, अभिवादन, नमस्कार।
वंश- वंश परम्परा, कुल, खानदान, गोत्र, जाति, नस्ल।
वक्ता- वाचक, व्याख्याता, भाषणकर्त्ता, तकरीर करने वाला।
वक्ष- छाती, सीना, वक्षस्थल, उरस्थल।
वचन- 1. शब्द, वाक्य, वाणी, बोली 2. आश्वासन, वादा, प्रण, प्रतिज्ञा।
वणिक- व्यापारी, व्यवसायी, रोजगारी, बनिया।
वध- घात, हिंसा, प्रतिघातन, हत्या, कत्ल।
वनिता- स्त्री, औरत, नारी, महिला, अबला।
वन्य- जंगली, वनचर, आरण्यक, काननसेवी।
वपु- शरीर, देह, काया, बदन, तन।
वय- वयस, उम्र, अवस्था, आयु।
वर- दुल्हा, वरदान, उत्तम, श्रेष्ठ।
वरण- चुनाव, चयन, छँटाई।
वरदान- आशीष, आशीर्वाद, मनोरथसिद्धि, उपहार, भेंट।
वर्ग- कोटि, समूह, समुदाय, कक्षा, दर्जा।
वर्जित- निषिद्धि, निषेधित, प्रतिषेधित, बाधित।
वर्णन- चित्रण, कथन, व्याख्या, विवरण, उल्लेख, जिक्र, चर्चा।
वर्तमान- उपस्थित, प्रस्तुत, विद्यमान, मौजूद।
वर्ष- संवत्, सन्, ईसवी, साल, बरस।
वलि- 1. रेखा, लकीर 2. पंक्ति, श्रेणी, कतार।
वल्लभ- पति, स्वामी, प्राणेश्वर, शौहर, खाविन्द।
वश- अधिकार, काबू, नियंत्रण।
वस्तु- चीज, द्रव्य, पदार्थ।
वस्तुतः- वास्तव में, सचमुच, ठीक, यथार्थ।
वस्त्र- पोशाक, कपड़ा, पट, वसन, अंबर, चीर, वेशभूषा।
वहशत- असभ्यता, अशिष्टता, अभद्रता, जंगलीपन।
वाँछा- इच्छा, अभिलाषा, मनोरथ, कांक्षा, आकांक्षा, चाह, कामना, वासना।
वाकिफ- ज्ञाता, जानकार, अनुभवी।
वाण- तीर, शिलीमुख, शयक।
वाणी- 1. सरस्वती, ज्ञानदेवी, विद्या, हंसवाहिनी 2. बात, वचन, शब्द, जबान, भाषा।
वातावरण- माहौल, परिवेश, पर्यावरण, वायुमंडल, जलवायु।
वाद-विवाद- 1. तर्क, वितर्क, बहस, सवाल-जवाब 2. कलह, तकरार, झगड़ा, तू-तू मैं-मैं।
वार्ता- 1. बातचीत, संवाद 2. समाचार, खबर, संदेश, हाल।
वास- निवास, आवास, घर, मकान, गृह, आलय, निलय।
वास्तविकता- यथार्थता, सत्यता, असलियत, तथ्यता।
विकट- भयंकर, डरावना, खौफनाक, भद्दा, कुरूप।
विकराल- भीषण, भयानक, डरावना, खौफनाक।
विकार- दोष, बुराई, बिगाड़, खराबी, त्रुटि, कमी।
विकास- प्रसार, फैलाव, बढ़ाव, प्रगति।
विक्रम- वीरता, बहादुरी, शूरता, साहस, पराक्रम।
विघ्न- बाधा, रुकावट, अटका, अटक, अवरोध, रोड़ा।
विचार- धारणा, चिन्तन, भावना, ख्याल, ध्यान, सोच, अनुमान।
विचित्र- अजीब, अदभुत, अनोखा, आश्चर्यजनक, अपूर्व।
विज्ञ- जानकार, बुद्धिमान, समझदार, विद्वान, पंडित।
विदित- ज्ञात, मालूम, जाहिर, प्रकट।
विदुर- जानकार, पंडित, ज्ञानी, विवेकी, पंडित।
विदूषक- विनोदी, ठिठोलिया, मसखरा, मजाकिया।
विद्यालय- पाठशाला, शिक्षालय, ज्ञानमंदिर, मदरसा, विद्यापीठ।
विद्युत- बिजली, तड़ित, करका, चंचला।
विधाता- ब्रह्मा, विधि, सृष्टिकर्त्ता।
विधान- 1. प्रबंध, व्यवस्था, आयोजन, इंतजाम 2. ढंग, प्रणाली, रीति 3. कायदा, नियम, विधि।
विनाशी- विनाशशील, नश्वर, शरीरी, मरणशील, मरणधर्मी।
विनीत- विनम्र, सुशील, शिष्ट, नम्र, विनयी, शीलवान।
विनोद- आमोद-प्रमोद, मजाक, उल्लास, आनंद, मनोरंजन, हँसी, तमाशा, खेल-कूद।
विपन्न- वन, जंगल, अरण्य, कानन।
विपरीत- प्रतिकूल, विरुद्ध, उलटा, खिलाफ, विरोधपूर्ण।
विपिन- वन, जंगल, अरण्य।
विप्र- ब्राह्मण, द्विज, पुरोहित, वेदज्ञ।
विभव- धन, संपत्ति, ऐश्वर्य 2. बल, शक्ति।
विभा- 1. आभा, चमक, प्रकाश, रोशनी, किरण 2. शोभा, सौन्दर्य, सुन्दरता।
विभिन्न- अलग-अलग, विविध, तरह-तरह का, भिन्न-भिन्न, कई प्रकार का।
विभेद- 1. खंड, विभाग 2. भिन्नता, भेद, अंतर, फर्क, प्रकार।
विभोर- 1. विकल, व्याकुल, आकुल 2. मग्न, लीन, तल्लीन, मस्त, मदहोश।
विमर्श- 1. परामर्श, राय, सलाह, विचार 2. जाँच, परख।
विमल- स्वच्छ, साफ, शुद्ध, पवित्र, निर्दोष।
विमान- वायुयान, हवाई जहाज, उड़न-खटोला।
विमुक्त- स्वतंत्र, स्वच्छंद, आजाद, रिहा, बरी।
विमुख- 1. प्रतिकूल, विरुद्ध 2. उदासीन, विरक्त, अनासक्त।
विमुग्ध- मोहित, आकृष्ट, प्रभावित, मस्त, मतवाला, मदहोश, बेसुध।
वियोग- जुदाई, विच्छेद, अलगाव, विरह, वियुक्ति।
विरक्त- संसार-विमुख, उदासीन, वैरागी, अनासक्त।
विरल- दुर्लभ, कठिन, दुष्प्राप्य।
विरह- वियोग, बिलगाव, जुदाई।
विराट- बड़ा, विशाल, विस्तृत, विकराल, विश्वरूप।
विराम- 1. रुकावट, ठहराव, अटकाव 2. आराम, विश्राम, शांति।
विलक्षण- अद्भुत, विचित्र, अनोखा, निराला, आश्चर्यजनक, अद्वितीय, अनुपम, बेजोड़।
विलग- अलग, पृथक, भिन्न, जुदा।
विलोम- विपरीत, प्रतिलोम, प्रतीप, उलटा।
विवरण- वर्णन, तफ़सील, खुलासा।
विवश- बेबस, मजबूर, लाचार, असहाय।
विषम- असमान, असंगत, भयंकर, डरावना, कठिन।
विषयी- विलासी, भोगी, कामी, व्यभिचारी, कामाचारी।
विस्तार- फैलाव, विशालता, लम्बाई-चौड़ाई।
विस्फोट- स्फोट, फूटना, धमाका।
विहंग- पक्षी, चिड़िया, पखेरू, खग।
वृथा- व्यर्थ, निरर्थक, बेकार, फजूल, बेफायदा।
दृष्टि- वर्षा, बारिश, मेघ, बरसात।
वेशभूषा- परिधान, वस्त्र, कपड़ा, पोशाक, लिबास।
व्यथित- दुखित, पीड़ित, क्लेशित, वेदनाग्रस्त।
व्यवस्था-प्रबंध, इंतजाम, बंदोबस्त, रीति, पद्धति, कायदा, नियम।
व्यसन- लत, खोटी, आदत, बुरी, आदत, बुरा शौक।
व्याधि- रोग, बीमारी, अस्वस्थता।
व्रत- उपवास, निराहार, अनाहार, रोजा।
व्रीड़ा- लाज, शर्म, लज्जा, संकोच, हया।

( श )

शेर-हरि, मृगराज, व्याघ्र, मृगेन्द्र, केहरि, केशरी, वनराज, सिंह, शार्दूल, हरि, मृगराज।
शिव- भोलेनाथ, शम्भू, त्रिलोचन, महादेव, नीलकंठ, शंकर।
शरीर- देह, तनु, काया, कलेवर, वपु, गात्र, अंग, गात।
शत्रु- रिपु, दुश्मन, अमित्र, वैरी, प्रतिपक्षी, अरि, विपक्षी, अराति।
शिक्षक- गुरु, अध्यापक, आचार्य, उपाध्याय।
शेषनाग- अहि, नाग, भुजंग, व्याल, उरग, पन्नग, फणीश, सारंग।
शुभ्र- गौर, श्वेत, अमल, वलक्ष, धवल, शुक्ल, अवदात।
शहद- पुष्परस, मधु, आसव, रस, मकरन्द।
शंका- 1. संदेह, शक, आशंका, अंदेशा, अनिर्णय 2. भय, डर, खौफ।
शंकित- 1. शंकाशील, संशययुक्त, आशंकाग्रस्त, संदेहास्पद 2. भयभीत, डरपोक, भयाकुल।
शकुन- सगुन, शुभ मुहूर्त, शुभसूचक चिन्ह।
शक्ति- बल, ताकत, जोर, क्षमता।
शक्तिशाली- बलवान, ताकतवर, जोरदार, ओजस्वी, समर्थ।
शठ- धूर्त, चालाक, लुच्चा, बदमाश, दुष्ट, कपटी।
शतक- शताब्दी, सदी, सौ, सैकड़ा।
शनैः- धीरे, आहिस्ता, हौले।
शनैश्चर- शनि, छायासुत, रविनंदन, मंदग्रह।
शपथ- सौंगंध, कसम, प्रतिज्ञा, प्रण।
शब्द- स्वर, ध्वनि, संख, घोष, लफ्ज, कथन।
शब्दकोश- शब्द संग्रह, शब्द संकलन, शब्दावली, शब्दार्थिका।
शमन- दमन, नियंत्रण, काबू, रोक।
शरण- आश्रय, रक्षा, बचाव, छाँह, छत्रछाया।
शराब- मदिरा, दारू, वारुणी, मय, सुरा।
शराबखाना- मदिरालय, दारू-खाना, मयखाना, सुरालय, सुरा-सदन, हौली।
शराबी- मद्यप, पियक्कड़, दारूबाज, मदिरासेवी।
शरीफ- भला, सज्जन, कुलीन, शिष्ट, विनीत।
शर्त- बाजी, दाँव, प्रतिबंध, अनुबंध।
शर्म- लाज, लज्जा, हया, संकोची, शर्मिन्दगी।
शर्मीला- लज्जालु, लज्जाशील, संकोची, लजीला, एकांतप्रेमी।
शव- मुर्दा, लाश, मिट्टी, लोथ, पर्थिव-शरीर।
शस्त्र- आयुध, अस्त्र, हथियार, युद्ध-साम्रगी।
शस्त्रधारी- सशस्त्र, हथियारबंद, सायुध।
शांत- चुप, मौन, गंभीर, संवेगहीन, आवेशरहित, खामोश, स्थिर।
शादी- विवाह, ब्याह, पाणिग्रहण, परिणय, गठबंधन।
शानदार- ऐश्वर्यशाली, वैभवशाली, भव्य, दिव्य, विलासपूर्ण, शोभनीय।
शाप- अभिशाप, बद्दुआ, अभिशाप, श्राप।
शामत- दुर्भाग्य, अभाग्य, बदकिस्मती, विपत्ति, दुर्दशा, खराबी।
शायरी- काव्य, कविता, पद्य, छंद।
शालीन- शिष्ट, सभ्य, भद्र, विनीत, नम्र।
शाश्वत- नित्य, सदैव, निरन्तर, लगातार, सर्वकालिक, चिरस्थायी, अविरत, अक्षम।
शासन- 1. आज्ञा, आदेश, हुक्म 2. हुकूमत, प्रशासन, अनुशासन, प्रभुत्व, स्वामित्व।
शिकायत- गिला, शिकवा, निंदा, बुराई।
शिकार- आखेट, मृगया, अहेर।
शिक्षक- अध्यापक, उपदेशक, गुरु, आचार्य, मास्टर, टीचर।
शिक्षा- 1. पढ़ाई-लिखाई, शिक्षण, विद्या 2. उपदेश, ज्ञान, सबक, सीख 3. परामर्श, सलाह, राय।
शिखर- शिरा, चोटी, शिखा, श्रृंग।
शिखा- चोटी, चुंडी।
शिथिल- 1. सुस्त, धीमा, मंद, ढीला, आलसी 2. दुर्बल, कमजोर।
शिरा- नाड़ी, नस, धमनी।
शिला- पाषाण, सिल, पत्थर, चट्टान।
शिल्पी- वास्तुशास्त्री, कारीगर, शिल्पकार, दस्तकार।
शिशिर- जाड़ा, शीतकाल, पाला, सर्दी, ठंडी।
शिशु- बालक, बच्चा, बाल, लड़का।
शीघ्र- तुरन्त, झटपट, तत्काल, फौरन, चटपट, जल्दी।
शीर्ष- 1. सिर, कपाल 2. सिरा, चोटी, शिखर, शिखा।
शुक्ल- उजला, सफेद, श्वेत, उज्ज्वल।
शुचि- पवित्रता, शुद्धता, स्वच्छ्ता, सफाई, पवित्र, शुद्ध, निर्मल।
शुद्ध- विशुद्ध, साफ, चोखा, निर्दोष, स्वाभाविक, पवित्र, निर्मल।
शुद्धि- स्वच्छ्ता, सफाई, पवित्रता, निर्मलता।
शुभ- 1. शिव, शुभकर, मंगल, माँगलिक, कल्याणकारी 2. मंगल, कल्याण, भलाई।
शुरुआत- प्रारम्भ, पहल, श्रीगणेश।
शुष्क- 1. सूखा, रसहीन, नीरस 2. स्नेहरहित, ह्रदयहीन, शून्य।
शून्य- 1. खाली जगह, रिक्त स्थान 2. एकांत स्थान, निर्जन स्थान, जनशून्य स्थान।
शूर- वीर, बहादुर, योद्धा, शूरवीर, साहसी।
शूल- पीड़ा, दर्द, चुभन।
श्रृंखला- 1. क्रम, सिलसिला 2. श्रेणी, कतार, पंक्ति।
श्रृंगार- साज, सजावट, ठाट, सिंगार, अलंकरण, रूपसज्जा।
शेखर- शीर्ष, सिर, खोपड़ी, कपाल, मूंड, मस्तक।
शेखी- गर्व, घमंड, अभिमान, ऐंठ, शान, अकड़।
शैली- चाल, ढंग, प्रणाली, तर्ज, तरीका, विधि।
शोध- 1. दुरुस्ती, शुद्धि 2. जाँच, परीक्षा, पड़ताल, छानबीन।
शोभन- 1. सुन्दर, मनमोहक, मनोहर, सुहावना सजीला 2. उत्तम, श्रेष्ठ, उचित, उपयुक्त।
शोभा- श्री, सुषमा, विभा, आभा, सौंदर्य, सुन्दरता, चमक, सजावट।
श्मशान- मरघट, मसान, मुरदघट्टा, मृतकदाह स्थान, कब्रिस्तान।
श्रमिक- श्रमजीवी, मजदूर, कामकर, मेहनतकश।
श्री- 1. धन, संपत्ति, वैभव, ऐश्वर्य 2. शोभा, सौंदर्य, रमणीयता 3. कांति, चमक, आभा, प्रभा, चमक।
श्रेय- अच्छा, बढ़िया, बेहतर, श्रेष्ठ, उत्तम, उत्कृष्ट।
श्लाघा- प्रशंसा, तारीफ, स्तुति, बड़ाई, खुशामद, चापलूसी।
श्रेष्ठ- अद्वितीय, उत्कृष्ट, उत्तम, सर्वोत्तम, अनुपम।
श्लाघा- प्रशंसा, तारीफ, स्तुति, बड़ाई, खुशामद, चापलूसी।
श्वास- प्राण, साँस, दम, संजीवनी, वायु।
श्वेत- उजला, उज्ज्वल, गोरा, साफ, दुग्धवत, रजतसदृश।

( ष )

षंड- हीजड़ा, नपुंसक, नामर्द।
षंजन- आर्लिगन, मिलन।
षंडाली- तालाब, ताल।
षटक- छः गुना, छः में खरीदा हुआ, छठी बार होने या किया जाने वाला, छः की संख्या।
षड्यंत्र- साजिश, कुचक्र, कूट-योजना।
षोडशी- दस या बारह महाविद्यालयों में से एक, सोलह वर्ष की स्त्री, सोलह वस्तुओं का वर्ग।
षडानन- षटमुख, कार्तिकेय, षाण्मातुर।

( स )

समुद्र- सागर, पयोधि, उदधि, पारावार, नदीश, नीरनिधि, अर्णव, पयोनिधि, अब्धि, वारीश, जलधाम, नीरधि, जलधि, सिंधु, रत्नाकर, वारिधि।
समूह- दल, झुंड, समुदाय, टोली, जत्था, मण्डली, वृंद, गण, पुंज, संघ, समुच्चय।
सरस्वती- गिरा, भाषा, भारती, शारदा, ब्राह्यी, वाक्, जातरूप, हाटक, वीणापाणि, विमला, वागीश, वागेश्वरी।
सुमन- कुसुम, मंजरी, प्रसून, पुष्प, फूल ।
सीता- वैदेही, जानकी, भूमिजा, जनकतनया, जनकनन्दिनी, रामप्रिया।
सर्प- साँप, अहि, भुजंग, ब्याल, फणी, पत्रग, नाग, विषधर, उरग, पवनासन।
सोना- स्वर्ण, कंचन, कनक, सुवर्ण, हाटक, हिरण्य, जातरूप, हेम, कुंदन।
सूर्य- रवि, सूरज, दिनकर, प्रभाकर, आदित्य, मरीची, दिनेश, भास्कर, दिनकर, दिवाकर, भानु, अर्क, तरणि, पतंग, आदित्य, सविता, हंस, अंशुमाली, मार्तण्ड।
सिंह- केसरी, शेर, महावीर, व्याघ्र, पंचमुख, मृगेन्द्र, केहरी, केशी, ललित, हरि, मृगपति, वनराज, शार्दूल, नाहर, सारंग, मृगराज।
सम- सर्व, समस्त, सम्पूर्ण, पूर्ण, समग्र, अखिल, निखिल।
समीप- सन्निकट, आसन्न, निकट, पास।
सभा- अधिवेशन, संगीति, परिषद, बैठक, महासभा।
सुन्दर- कलित, ललाम, मंजुल, रुचिर, चारु, रम्य, मनोहर, सुहावना, चित्ताकर्षक, रमणीक, कमनीय, उत्कृष्ट, उत्तम, सुरम्य।
सन्ध्या- सायंकाल, शाम, साँझ, प्रदोषकाल, गोधूलि।
स्त्री- सुन्दरी, कान्ता, कलत्र, वनिता, नारी, महिला, अबला, ललना, औरत, कामिनी, रमणी।
सुगंधि- सौरभ, सुरभि, महक, खुशबू।
स्वर्ग- सुरलोक, देवलोक, दिव्यधाम, ब्रह्मधाम, द्यौ, परमधाम, त्रिदिव, दयुलोक।
स्वर्ण- सुवर्ण, कंचन, हेन, हारक, जातरूप, सोना, तामरस, हिरण्य।
सहेली- अलि, भटू, संगिनी, सहचारिणी, आली, सखी, सहचरी, सजनी, सैरन्ध्री।
संसार- लोक, जग, जहान, भूमण्डल, दुनियाँ, भव, जगत, विश्व।
सरस्वती- गिरा, शारदा, भारती, वीणापाणि, विमला, वागीश, वागेश्वरी।
सेना- ऊनी, कटक, दल, चमू, अनीक, अनीकिनी।
साधु- सज्जन, भद्र, सभ्य, शिष्ट, कुलीन।
सलिल- अम्बु, जल नीर, तोय, सलिल, पानी, वारि।
सगर्भ- बंधु, भाई, सजात, सहोदर, भ्राता, सोदर।
सगर्भा- भगिनी, सजाता, सहोदर, बहिन, सोदरा।
संकट- आपत्ति, विपत्ति, आफत, मुसीबत, विपदा, दुर्भाग्य, अभाग्य।
संकल्प- विचार, इरादा, चेष्टाहीन, इच्छाशक्ति, कामनाशक्ति, दृढ़-निश्चय, प्रतिज्ञा, व्रत।
संकेत- चिन्ह, निशान, लक्षण, प्रतीक।
संकोच- असमंजस, हिचक, लाज, लज्जा, शर्म।
संक्षिप्त- थोड़ा, अल्प, कम।
संक्षेप-समाहार, सारांश, संक्षिप्त रूप।
संगति- मेल, संग, मिलाप, साथ, सम्बन्ध, मैत्री, दोस्ती।
संगम- मेल, मिलाप, संयोग, संग, साथ, सम्बन्ध, संगति।
संग्रह- एकत्रीकरण, संचय, जवाब, ढेर, समूह, राशि।
संघ- वर्ग, समुदाय, समूह, दल, टोली, भीड़।
संघात- 1. आघात, चोट, मार, टक्कर 2. वध, हत्या, कत्ल।
संचालन- निर्देश, निर्देशन, मार्गप्रदर्शन, प्रेषण।
संजीदा- 1. गंभीर, शांत 2. बुद्धिमान, समझदार, प्रतिभाशाली, अक्लमंद।
संतप्त- दग्ध, पीड़ित, दुखित, व्यथित।
संतान-संतति, वंशज, वंश, औलाद, बाल-बच्चे।
संतुलन- साम्य, साम्यवस्था, समभार, समरसता।
संतोष- संतुष्टि, तसल्ली, धीरज, धैर्य, ढाढ़स, संशयपूर्ण, सांत्वना।
संदिग्ध- संदेहजनक, संदेहास्पद, भ्रमयुक्त।
संधि- 1. मेल, संयोग, समाधान, समझौता 2. गांठ, जोड़, मिलान।
संन्यासी- त्यागी, गोस्वामी, योगी, तपस्वी, एकांतवासी, साधनाशील, संत, साधू, मुनि।
संपूर्ण- पूरा, सारा, समूचा, समस्त, सब, कुल, तमाम, सर्व।
सम्बन्ध- सम्पर्क, वास्ता, नाता, रिश्ता, लगाव, सरोकार।
संबोधन- बुलाना, पुकारना, आह्वान करना।
संभावी- संभावित, संभव, मुमकिन, कल्पनीय, अनुमानित।
संभ्रम- घबराहट, व्याकुलता, बेचैनी, विकलता।
संभ्रांत- सम्मानित, प्रतिष्ठित, भद्र पुरुष।
संयत- नियंत्रित, नियमित, मर्यादित, अनुशासित, शांत, गम्भीर।
संविधान- नियम, कानून, राज्य नियम, कायदा।
संसर्ग- सम्पर्क, लगाव, सम्बन्ध, घनिष्टता, मेल-जोल, मेल-मिलाप।
संसारी- पार्थिव, लौकिक, ऐहिक, इहलौकिक, सांसरिक, दुनियावी।
संसिद्धि- सफलता, कामयाबी, सिद्धि, मनोरथसिद्धि।
संस्थापक- संचालक, जनक, मूलकर्ता, आरंभकर्ता, प्रतिष्ठापक।
संहार- ध्वस्त, नाश, विध्वंस, बरबादी।
सखा- साथी, मित्र, दोस्त, संगी।
सखी- सहेली, सहचरी, संगिनी, अली, आली।
सच- यथार्थ, वास्तविक, सत्य, मिथ्यारहित, सच्चा।
सचमुच- 1. ठीक-ठीक, वास्तव में, वस्तुतः 2. निश्चित रूप से, अवश्य, जरूर, निश्चय ही।
सचाई- सत्यता, वास्तविकता, यथार्थता।
सचेत- 1. समझदार, चतुर, होशियार 2. सजग, सावधान।
सच्चाई- 1. सत्यवादी, सत्यवान, सत्यव्रती, सत्यनिष्ठ, निश्छल, ईमानदार 2. प्रमाणयुक्त, प्रामणिक, वास्तविक, असली।
सज-धज- बनाव-सिंगार, सजावट, शान, दिखावट, आत्मप्रदर्शन, आडम्बर।
सजा- दंड, दंडादेश, दंडाज्ञा।
सज्जन- भला, आदमी, शरीफ, व्यक्ति, महानुभाव, सम्मानित व्यक्ति।
सज्जा- सजावट, सजधज, अलंकरण, बनाव-सिंगार।
सठियाना- बुद्धिलोप होना, मंदबुद्धि होना, मूर्ख होना, मतिभ्रष्ट हो जाना।
सतत- सदा, हमेशा, निरन्तर, लगातार।
सतीत्व- पातिव्रत्य, जितेन्द्रियता, शुचिता, सतीधर्मिता, साध्विता, पतिव्रता।
सत्कार- खातिरदारी, आतिथ्य, मेहमाननवाजी, मेहमानदारी, स्वागत, सम्मान, आदर।
सदन- घर, गृह, मकान, निवास-स्थान, आवास।
सदा- सर्वदा, निरन्तर, सदैव, नित्य, हमेशा, लगातार, हरदम, हरसमय।
सदृश- समान, अनुरूप, तुल्य, बराबर, सम।
सनातन- नित्य, हमेशा, निरन्तर, शाश्वत।
सन्नद्ध- तैयार, उद्यत, प्रस्तुर, तत्पर।
सफल- सार्थक, कारगर, कामयाब, फलीभूत, फलवान।
सभापति- अध्य्क्ष, प्रधान, संचालक, प्रबंधक, चेयरमैन।
सभ्यता- शिष्टता, शिष्टाचार, शीलवत्ता, भद्रता।
समता- साम्य, बराबरी, जोड़तोड़, तुल्यता, अनुरूपता।
समय- 1. बेला, काल, घड़ी, वक्त 2. अवसर, मौका, अवकाश, फुरसत।
समस्त- कुल, सब, सारा, समूचा, सम्पूर्ण।
समान- तुल्य, सम, बराबर, एक-सा, एक-जैसा, एक भाँति।
समाप्ति- संपूर्णता, पूर्णता, समापन, अवसान।
समीक्षा- आलोचना, समालोचना, निरूपण।
सम्मुख- सामने, आगे, प्रत्यक्ष।
सम्राट- महाराजधिराज, बादशाह, शंहशाह, महाराजा, सुलतान, अधिपति।
सरकारी- आधिकारिक, शासनिक, राजकीय, शासकीय, सार्वजनिक।
सरदार- नेता, नायक, अगुआ, मुखिया।
सरल- सीधा, सादा, कोमल, निश्छल, सच्चा, ईमानदार, उदार।
सर्वज्ञ- सर्वज्ञानी, संपूर्णज्ञाता, समूचा, जानकार।
सलाह- सम्मति, राय, परामर्श, विचार-विनिमय।
सलूक- 1. व्यवहार, बरताव, सद्भाव 2. तौर, तरीका, ढंग, सलीका।
सह- सहित, संग, साथ।
सहनशील- क्षमाशील, क्षमावान, धैर्यवान, धीरज।
सहसा- एकाएक, अकस्मात्, झटपट, अचानक।
सहानुभूति- 1. संवेदना, सहभावना, हमदर्दी 2. अनुकंपा, दया, करुणा।
सही- सत्य, यथार्थ, वास्तविक, सच, ठीक, शुद्ध।
सांत्वना- आश्वासन, ढाढ़स, दिलासा, तसल्ली, धीरज।
साँवला- श्याम, नील, श्यामल, काला, कृष्णवर्ण।
साँस- श्वास, श्वसन, निश्वास, दम।
सांसारिक- लौकिक, लोकपरक, ऐहिक, संसारी, दुनियावी।
साग-पात- शाक, भाजी, तरकारी।
साजिश- षड्यंत्र, कुचक्र, कूटप्रबंध, छल, दाँवघात।
सामग्री- सामान, द्रव्य, चीज, वस्तु।
सामर्थ्य- योग्यता, शक्ति, ताकत, बल।
सामान- 1. माल, साज-सामान, सामग्री 2. उपकरण, औजार।
सायंकाल-रजनीमुख, सायं, दिनांत, संध्या, गोधूति, प्रदोषकाल।
साया- छाया, छाँह, परछाई।
सारणी- तालिका, सूची, सूची-पत्र, अनु-क्रमणिका।
सारांश- निष्कर्ष, आशय, तात्पर्य, अभिप्राय, भावार्थ, भाव, मतलब।
साह- 1. व्यापारी, वणिक, महाजन, धनी 2. साहूकार, बनिया, सेठ, रोजगारी।
साहस- हिम्मत, हौसला, जीवट, निर्भयता, बहादुरी।
सिंहासन- राजासन, गद्दी, राजगद्दी, तख्त।
सिकता- बालू, रेत, बालुका।
सिखाना- शिक्षित करना, शिक्षा देना, योग्य बनाना, ट्रेनिंग देना, अनुशासित करना।
सितारा- 1. नक्षत्र, तारा 2. भाग्य, किस्मत।
सिद्ध- निर्विवाद, निश्चित, प्रमाणित, सर्वमान्य, पुष्ट, साबित।
सिफारिश करना-अनुशंसा करना, अनुरोध करना, संस्तुति करना।
सीमित- मर्यादित, निर्धारित, निश्चित, परिसीमित।
सुन्दरता- सौंदर्य, शोभा, छवि, लालित्य, रमणीयता, कांति, हुस्न, खूबसूरती।
सुन्दरी- प्रियदर्शनी, चंद्रमुखी, मृगनयनी, मीनाक्षी, सुलोचना, गोरी, अलबेली, हसीना।
सुकुमार-कोमल, नाजुक, नरम, मुलायम।
सुगंध- महक, सौरभ, सुरभि, खुशबू।
सुगम- सहज, सरल, आसान, सुबोध, सुलभ।
सुबह- सवेरा, भोर, अरुणोदय, प्रभात, प्रातःकाल, भिनसार, विहान।
सुरमा- काजल, अंजन, आँजन।
सुरीला- मधुर, संगीतपूर्ण, मीठा, रसीला।
सुविधाजनक- सुखप्रद, आरामदेह, सुखदायक, सुखकारक, सुविधायुक्त।
सुस्त- आलसी, अकर्मठ, मंद, शिथिल, म्लान, निद्रालु।
सुस्ताना- विराम लेना, आराम करना, दम लेना, रुकना, ठहरना।
सुस्पष्ट- प्रकट, व्यक्त, साफ, सुबोध।
सूखा- निर्जल, जलहीन, जलरहित, रूखा, शुष्क।
सोच- 1. चिंता, फिक्र, दुविधा, संकल्प-विकल्प 2. दुःख, खेद, पछतावा, पश्चाताप।
सौंपना- समर्पण करना, अर्पण करना, समर्पित करना, प्रदान करना।
स्तन- पयोधर, छाती, चूचुक, चूची, स्तन्याशय, उरोज।
स्वार्थी-स्वार्थपरायण, मतलबी, खुदगरज।
स्वावलंबन- आत्मनिर्भरता, आत्माश्रय, स्वाश्रय, अपने पैरों पर खड़ा होना।
स्वीकार- स्वीकरण, मंजूर करना, मान्य होना, मानना, कबूल करना।

( ह )

हस्त- हाथ, कर, पाणि, बाहु, भुजा।
हिमालय- हिमगिरी, हिमाचल, गिरिराज, पर्वतराज, नगपति, हिमपति, नगराज, हिमाद्रि, नगेश।
हिरण- सुरभी, कुरग, मृग, सारंग, हिरन।
होंठ- अक्षर, ओष्ठ, ओंठ।
हनुमान- पवनसुत, पवनकुमार, महावीर, रामदूत, मारुततनय, अंजनीपुत्र, आंजनेय, कपीश्वर, केशरीनंदन, बजरंगबली, मारुति।
हिमांशु- हिमकर, निशाकर, क्षपानाथ, चन्द्रमा, चन्द्र, निशिपति।
हंस- कलकंठ, मराल, सिपपक्ष, मानसौक।
हृदय- छाती, वक्ष, वक्षस्थल, हिय, उर।
हाथ- हस्त, कर, पाणि।
हाथी- नाग, हस्ती, राज, कुंजर, कूम्भा, मतंग, वारण, गज, द्विप, करी, मदकल।
हंगामा- कोलाहल, अशांति, शोरगुल, हल्ला, शोर 2. उत्पात, उपद्रव, हुड़दंग।
हँसमुख- आनंदित, उल्लसित, मगन, प्रसन्नचित्त, खुशमिजाज।
हँसी- मुस्कान, मुस्कारहट, ठहाका, खिलखिलाहट, मजाक, दिल्लगी, खिल्ली।
हटना- अलग होना, विमुख होना, पृथक होना, विचलित होना।
हठ- अड़, जिद, जबरदस्ती, प्रतिज्ञा, संकल्प, दृढ़निश्चय।
हताश- निरोशोन्मत्त, निराश, आशाहीन।
हत्या- वध, हिंसा, कत्ल, खून।
हत्यारा- हिंसक, खूनी, जीवघाती, कातिल, घातक।
हथियाना- हड़पना, हरण करना, दबा लेना, छीन लेना कब्जा करना, वश में करना।
हमदर्द- सहानुभूतिशील, दर्दमंद, हितचिंतक।
हमेशा- निरन्तर, सदा, सर्वदा, बराबर, लगातार।
हरिण- मृग, सारंग, ऋश्य, हिरण।
हर्ष- सुख, आनंद, प्रसन्नता, उल्लास, मोद-प्रमोद।
हर्षित- प्रफुल्ल, प्रसन्न, उल्लासमय, प्रसन्नचित्त।
हलचल- आंदोलन, उपद्रव, सनसनी, हंगामा, खलबली, उथल-पुथल।
हवा- 1. पवन, वायु, समीर, अनिल 2. चलन, फैशन 3. अफवाह।
हवाई अड्डा- विमान, पत्तन, विपत्तन, हवाई पत्तन।
हवाई जहाज- वायुयान, विमान, नभयान, पुष्पक विमान।
हाकिम- अधिकारी, शासक, शासनकर्त्ता।
हानि- 1. घाटा, नुकसान, क्षति 2. नाश, संहार, क्षय।
हासिल- प्राप्त, लब्ध, उपलब्ध।
हिचकना- संकोच करना, झिझकना, ठिठकना, हिचकिचाना।
हिजड़ा- नपुंसक, नामर्द।
हित- 1. कल्याण, मंगल, भलाई, उपकार 2. लाभ, फायदा।
हितैषी- उपकारक, शुभचिंतक, शुभाकांक्षी, मंगलाकांक्षी, हितचिन्तक।
हिसाब- अभिकलन, संगणना, गणना, गिनती, हिसाब-किताब।
हिस्सा- भाग, अंश, खंड, टुकड़ा।
हिस्सेदार- भागीदार, साझीदार, पट्टीदार।
हीन- रहित खाली, रिक्त, शून्य।
हेतु- 1. अभिप्राय, उद्देश्य, आशय, मतलब 2. कारण, वजह।
ह्रास- 1. क्षय, नाश, विध्वंश 2. गिरावट, उतार, घटाव।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *